करियर & जॉब दिल्ली देश होम

सुरक्षा की मांग को लेकर आज देशभर में 5 लाख डॉक्टर्स हड़ताल पर……….

पश्चिम बंगाल के हड़ताली डॉक्टरों ने रविवार को कहा कि वे मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से मिलने को तैयार हैं, हालांकि इस बीच, इंडियन मेडिकल असोसिएशन (IMA) ने साफ किया है कि भले ही बंगाल में हड़ताल खत्म हो जाए लेकिन वह डॉक्टरों की सुरक्षा की मांग पर सोमवार को देशभर में हड़ताल करेंगे। इसके चलते सुबह 6 बजे से चौबीस घंटे तक देशभर में 5 लाख डॉक्टर्स हड़ताल पर रहेंगे।

वहीं युनाइटेड रेजिडेंट एंड डॉक्टर्स असोसिएशन इंडिया का कहना है कि हमारी स्ट्राइक तब तक जारी रहेगी जब तक कि इसका सॉल्यूशन नहीं निकलता है। इस स्ट्राइक का दिल्ली में भी पूरा इफेक्ट हो सकता है, क्योंकि दिल्ली मेडिकल असोसिएशन (DMA) ने सभी प्राइवेट क्लिनिक और सेंटर को सोमवार को अपने अस्पताल, क्लिनिक और लैब बंद करने की अपील की है। इस हड़ताल के कारण आज देशभर में करीब 5 लाख डॉक्टर्स मरीजों का इलाज नहीं करेंगे।

IMA ने की सेंट्रल कानून की मांग
आईएमए ने डॉक्टरों के खिलाफ हिंसा को रोकने के लिए सेंट्रल एक्ट की मांग को फिर दोहराया है। आईएमए ने कहा है कि सालों से यह मांग चली आ रही है लेकिन इसको लेकर हर बार केवल आश्वासन मिलता है। हमारी एक दिन यह स्ट्राइक उस मांग को लेकर है। आईएमए ने कहा कि 17 जून को सुबह 6 बजे से लेकर अगले 24 घंटे तक स्ट्राइक का ऐलान किया है, जो 18 जून की सुबह 6 बजे तक रहेगी। इस बीच सभी प्रकार की ओपीडी बंद रहेगी। केवल इमरजेंसी और कैजुअल्टी के मरीजों का इलाज होगा।

इमरजेंसी में इन बातों का जानना है जरूरी

मोहल्ला क्लिनिक में होगा इलाज!
दिल्ली में 192 मोहल्ला क्लिनिक में ओपीडी बेसिस पर इलाज संभव है। अगर आपके इलाके में मोहल्ला क्लिनिक है तो आप सुबह 8 बजे से दोपहर 2 बजे तक वहां जाकर अपना इलाज करा सकते हैं, यहां पर जरूरी 212 जांचें भी होती हैं। दिल्ली सरकार के डीजीएचएस डॉक्टर अशोक कुमार राणा ने बताया कि मोहल्ला क्लिनिक में स्ट्राइक का असर नहीं होगा, यहां पर रुटीन में सभी इलाज पहले की तरह होगा।

अगर हो तुरंत इलाज की जरूरत
स्ट्राइक के बावजूद सभी प्राइवेट और सरकारी अस्पतालों में इमरजेंसी में इलाज किया जाएगा। आपके घर या परिवार में किसी को अचानक इलाज की जरूरत पड़े तो वो अपने करीबी किसी भी अस्पताल जा सकते हैं। चाहे आपके बच्चे को बहुत तेज फीवर हो या किसी का एक्सीडेंट हो जाए या चोट लग जाए तो आप बिना समय गवाएं अपने नजदीकी अस्पताल की इमरजेंसी में पहुंचे, वहां डॉक्टर इलाज करेंगे।

एम्स में डॉक्टर देखेंगे मरीज
एम्स में आज किसी तरह की हड़ताल नहीं रहेगी यानी यहां आम दिनों की तरह इलाज किया जाएगा। हालांकि अगर आप सफदरजंग में ओपीडी में इलाज के लिए जाने वाले हैं तो वहां इलाज नहीं मिलेगा। लेकिन अगर आपका पहले से इलाज चल रहा है और सफदरजंग में अपॉइंटमेंट ले रखा है तो वहां आपको इलाज मिल जाएगा, लेकिन बाकी किसी अस्पताल में ओपीडी बेसिस पर इलाज नहीं होगा। सफदरजंग में सीनियर डॉक्टर उपलब्ध होंगे।

लैब में जांच करनी हो तो क्या करें
सोमवार को लैब भी बंद रह सकती हैं। अगर आप अपनी कोई नॉर्मल जांच कराना चाहते हैं तो ऑनलाइन टेस्ट बुक कराकर सैंपल दे सकते हैं। किंतु अगर आप अस्पताल जाकर जांच कराना चाहते हैं तो दिक्कत होगी। इसके लिए आपको एक दिन का इंतजार करना पड़ सकता है। अगर पेट दर्द हो रहा हो और आप अल्ट्रासाउंड कराना चाहते हैं तो पहले आप किसी इमरजेंसी में जाएं, वहां डॉक्टर अपने सेंटर में आपकी जांच खुद करवा देंगे।

फोन पर ले सकते हैं सलाह

आप पहले से ब्लड प्रेशर या डायबिटीज के मरीज हैं और आप किसी डॉक्टर से रेगुलर इलाज कराते हैं और अगर सोमवार को आपका अचानक आपका ब्लड प्रेशर बढ़ जाता है या शुगर हाई हो जाती है तो आप ऐसी स्थिति में अपने डॉक्टर के क्लिनिक पर जाने से पहले उन्हें फोन कर लें, हो सके तो फोन पर ही सलाह ले लें। कई डॉक्टरों ने कहा कि वो इमरजेंसी में मरीज को जरूरी सलाह फोन पर देने को तैयार हैं।