Breaking News उत्तर प्रदेश देश राजनीती होम

उत्तर प्रदेश : सीतापुर की कई संपत्तियों से राजा होंगे बेदखल, होगा सरकार का कब्जा

शत्रु संपत्तियों के सारे अधिकार अब सरकार के अधीन होंगे। इन संपत्तियों पर उत्तराधिकारी दावा नहीं कर सकेंगे। मंगलवार को लोकसभा व राज्यसभा में शत्रु संपत्ति विधेयक पास होने के बाद इन संपत्तियों के लिए यह कानून लागू कर दिया गया है।

यहां शत्रु संपत्ति के मामले में सबसे ज्यादा प्रापर्टी राजा महमूदाबाद की है। अब इस पर उनका मालिकाना हक खत्म हो जाएगा। सारी शत्रु संपत्ति सरकारी कब्जे में होंगी।जिले में शहर मुख्यालय, महमूदाबाद और बिसवां में शत्रु संपत्ति है।

शहर की शत्रु संपत्ति मौजूदा समय में प्रशासन के कब्जे में है। जबकि महमूदाबाद की प्रापर्टी राजा के कब्जे में है। बिसवां की शत्रु संपत्ति पर कब्जे को लेकर विवाद चला आ रहा था।

शहर की शत्रु संपत्ति में ज्यादातर में प्रशासन के कब्जे में है। मौजूदा समय में डीएम, एसपी व सीएमओ का आवास शत्रु संपत्ति के भवनों में है। इसके अलावा प्रेम नगर की शत्रु संपत्ति पर दर्जनों बाशिंदे कॉलोनी बनाकर निवास कर रहे हैं।

महमूदाबाद में राजा मोहम्मद अमीर मोहम्मद खान का किला शत्रु संपत्ति है। इसके अलावा बड़ी बाग, बरदही बाग, लखपेड़ा बाग और अमीरगंज व घरपरी में जमीनें भी हैं। सारी संपत्ति पर राजा महमूदाबाद का कब्जा है। ‌ब‌िसवां में नगर का रोडवेज बस स्टाप शत्रु संपत्ति की जमीन पर है।