Breaking News दुनिया देश राजनीती

बालाकोट हमले को लेकर मोदी पर महबूबाका हमला, कहा- कुर्सी बचाने के लिए……

 

How prescient. Aaj kay zamane main desh bhakti kursi bachanay ke liye zaruri hai. FYI nationalism , racism & propaganda also defined Hitler’s Weimar Republic. If that doesn’t set the alarm bells ringing I dont know what will

जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti) ने पीएम नरेंद्र मोदी पर एक बार फिर हमला बोला है. उन्होंने (Mehbooba Mufti) बालाकोट हमले को लेकर मंगलवार को एक ट्वीट किया. महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti) ने ट्वीट कर कहा कि आज के जमाने में देशभक्ति कुर्सी बचाने के लिए जरूरी है. उन्होंने (Mehbooba Mufti) अपने ट्वीट में बॉलीवुड की एक फिल्म का वीडियो भी डाला है. जिसमें दो कलाकार आपस में यही बात कर रहे हैं कि वह किस तरह से देशभक्ति के नाम पर चुनाव जीत सकते हैं.बता दें कि यह कोई पहला मौका नहीं है जब महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti) ने पीएम मोदी और केंद्र सरकार पर हमला बोला है.

इससे पहले डल झील में सैर करते हुए पीएम मोदी के हाथ हिलाने पर जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने अन्य विपक्षी दलों के साथ मिलकर उनका मजाक उड़ाया था . उन्होंने कहा था कि वह ‘कश्मीर में काल्पनिक मित्रों’ की तरफ हाथ हिलाकर उनका अभिवादन कर रहे हैं. नेशनल कॉन्फ्रेंस नेता उमर अब्दुल्ला ने कहा था कि ‘यह हो ही नहीं सकता कि पीएम मोदी खाली झील की ओर हाथ हिलाएंगे.’ वहीं कांग्रेस नेता सलमान निजामी ने पीएम मोदी की डल झील की सैर की एक तस्वीर लगाई थी और उसके साथ कैप्शन लिखा है, ‘पहाड़ों की ओर हाथ हिलाते हुए.’ बता दें, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के श्रीनगर दौरे के खिलाफ अलगाववादियों ने पूरी तरह से बंद का ऐलान किया था.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जम्मू-कश्मीर और लद्दाख क्षेत्र के दौरे पर प्रतिक्रिया देते हुए कांग्रेस ने कहा था कि राज्य में भाजपा अपनी जमीन खो चुकी है और यह दौरा लोकसभा चुनाव से पहले इसे हासिल करने की भाजपा की कोशिश है. प्रदेश कांग्रेस समिति के अध्यक्ष जी ए मीर ने कहा था कि भाजपा जम्मू-कश्मीर के लोगों से किए गए वादे को पूरा करने में ‘बुरे तरीके से विफल’ रही है और उसके पास लोगों को दिखाने के लिए कुछ भी नहीं है. मीर ने कहा था कि प्रधानमंत्री का दौरा भाजपा का यह दिखाने का तरीका है कि वह कैसे लोगों के विकास के लिए प्रतिबद्ध और चिंतित है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को जम्मू में एक अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) और एक भारतीय जनसंचार संस्थान (आईआईएमसी) समेत विभिन्न विकास परियोजनाओं की आधारशिला रखी. मोदी ने कहा था कि नये एम्स की स्थापना से क्षेत्र में स्वास्थ्य सुविधाओं में बदलाव आएगा और युवाओं को नये अवसर भी मिलेंगे. जम्मू के लोगों ने क्षेत्र में एम्स की स्थापना के लिए करीब दो महीने तक प्रदर्शन किया था. इस मांग के समर्थन में नेशनल कान्फ्रेंस (एनसी) और कांग्रेस ने भी यहां प्रदर्शन किये थे. प्रस्तावित एम्स 700 बिस्तरों का होगा.

प्रधानमंत्री ने कहा कि राज्य को पांच नये मेडिकल कॉलेजों की स्थापना के लिए 750 करोड़ रुपये दिये गये हैं. मोदी ने कहा कि इन मेडिकल कॉलेजों में सत्र जल्द शुरू होगा. पिछले 70 साल से एमबीबीएस की केवल 500 सीटें थीं, लेकिन भाजपा सरकार ने अब सीटों को दोगुना कर दिया है. उन्होंने जम्मू में आईआईएमसी के उत्तर क्षेत्रीय केंद्र के परिसर का शिलान्यास किया. इसका निर्माण 16 करोड़ रुपये की लागत से किया जाएगा.