देश होम

डोनाल्ड ट्रंप ने पुलवामा हमले को बताया भयावह, अमेरिका बोला- दोषियों पर एक्शन ले पाकिस्तान

Donald Trump With Narendra Modi (File)

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले को लेकर पाकिस्तान दुनियाभर में आलोचना का सामना कर रहा है. हमले के 5 दिन बाद अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भी इस मामले में पाकिस्तान को लताड़ा है और भारत का साथ दिया है. डोनाल्ड ट्रंप ने पुलवामा हमले को ‘भयावह’ बताया है. उनके अलावा अमेरिका के विदेश मंत्रालय ने कहा है कि पाकिस्तान को आतंकियों पर सख्त से सख्त कार्रवाई करनी चाहिए.

मंगलवार को अपने ओवल ऑफिस में मीडिया से बात करते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि मुझे उसपर (पुलवामा हमले) पर रिपोर्ट्स मिल रही हैं, हम इस पर सही समय पर कमेंट करेंगे. अच्छा होगा, अगर दोनों देश साथ आते हैं. पुलवामा में जो भी हुआ वह भीषण था, हमें लगातार रिपोर्ट्स मिल रही हैं.

विदेश मंत्रालय ने भी लताड़ा

वहीं, अमेरिकी विदेशी विभाग ने कहा है कि पुलवामा हमले के बाद वह भारत के साथ खड़ा है, पाकिस्तान को इसके जिम्मेदार लोगों पर सख्त कार्रवाई करनी चाहिए. विदेश विभाग के डिप्टी प्रवक्ता रॉबर्ट पॉलडिनो ने कहा कि पुलवामा हमले के साथ ही अमेरिका भारत के संपर्क में है, हम ना सिर्फ इस हमले की भर्तस्ना करते हैं बल्कि हम भारत के साथ भी खड़े हैं.

उन्होंने कहा कि हम अपील करते हैं कि पाकिस्तान को इस हमले की जांच करने में मदद करनी चाहिए और अगर कोई दोषी निकलता है तो उसे सजा देनी चाहिए. उन्होंने ये भी बताया कि हम लगातार पाकिस्तान के संपर्क में भी हैं.

‘भारत को कार्रवाई का हक’

इससे पहले भी अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) जॉन बॉल्टन ने भी भारत के NSA अजित डोभाल से इस मुद्दे पर बात की थी और कहा था कि भारत को एक्शन लेने का पूरा अधिकार है. इसके अलावा अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो ने भी पुलवामा हमले की भर्तस्ना की थी.

शहीद हुए थे हमारे 40 जवान

आपको बता दें कि 14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले में भारत के 40 जवान शहीद हुए थे. इस हमले को जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी आदिल अहमद डार ने अंजाम दिया था. जैश-ए-मोहम्मद पाकिस्तान की जमीन से बैठकर भारत में आतंक फैलाता है.

भारत की मांग है कि पाकिस्तान जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर पर कार्रवाई करे अन्यथा भारत को सौंप दे. भारतीय सुरक्षाबलों ने पुलवामा हमले के 100 घंटे के अंदर ही इसके मास्टरमाइंड रहे गाज़ी उर्फ राशिद, कामरान और हिलाल को मार गिराया था.

गौरतलब है कि मंगलवार को ही पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने पुलवामा हमले को लेकर बयान जारी किया, उन्होंने कहा कि पाकिस्तान का इससे कोई लेना-देना नहीं है. अगर भारत कोई सबूत देता है तो हम उसपर कार्रवाई करेंगे. हालांकि, इसी बयान में इमरान भारत को युद्ध के लिए धमकाते हुए दिखे.