देश राजनीती होम

उपवास पर बैठे नायडू से मिले राहुल गांधी, कहा- मोदी ने विशष दर्जा को लेकर झूठ बोला

Chandrababu Naidu begins his hunger strike, abdullah and kejriwal will support him

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने नई दिल्ली में एक दिवसीय धरने पर बैठे आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू को अपना समर्थन दिया है।नायडू के मंच से बोले राहुल गांधी, ‘मोदी ने आंध्र प्रदेश से किया वादा पूरा नहीं किया। केवल एक या दो महीने की बात है विपक्षी पार्टी नरेंद्र मोदी को दिखाएगी कि भारत की जनता की भावनाएं क्या हैं। चौकीदार चोर है। पीएम ने आंध्र प्रदेश का पैसा चुराया और अनिल अंबानी को दे दिया। हम भाजपा और नरेंद्र मोदी को हराने वाले हैं। पीएम जहां जाते हैं वहां झूठ बोलते हैं। मैं आंध्र के लोगों के साथ हूं। उनकी कोई विश्वसनीयता नहीं बची है।’लखनऊ रवाना होने से पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी भी चंद्रबाबू नायडू का साथ देने के लिए आंध्र प्रदेश भवन पहुंच गए हैं। जहां नायडू एक दिन का धरना कर दे रहे हैं।नेशनल कांफ्रेस के फारूक अब्दुल्ला और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के मजीद मेनन आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री द्वारा आंध्र प्रदेश भवन में किए जा रहे धरने में शामिल होने के लिए पहुंच गए हैं।टीडीपी सांसद जयदेव गल्ला ने आंध्र प्रदेश भवन में दिखाई दिए पोस्टर्स को लेकर कहा, ‘हम इनका समर्थन नहीं करते हैं। यह सही नहीं है और ऐसा नहीं होना चाहिए। इसे हमारी पार्टी के लोगों ने नहीं लगाया है।’नायडू ने कहा, ‘यदि आप हमारी मांगों को पूरा नहीं करते हैं तो हम जानते हैं कि उन्हें कैसे पूरा करवाया जाना है। यह आंध्र प्रदेश के लोगों के आत्मसम्मान को लेकर है। जब भी हमारे आत्मसम्मान पर हमला किया जाएगा, हम उसे बर्दाश्त नहीं करेंगे। मैं इस सरकार को चेतावनी देता हूं और खासतौर से पीएम को कि वह व्यक्तिगत हमले करना बंद करें।’धरने पर बैठे चंद्रबाबू नायडू ने कहा, ‘आज हम यहां केंद्र सरकार के खिलाफ विरोध करने के लिए आए हैं। धरने से एक दिन पहले कल पीएम आंध्र प्रदेश के गुंटूर पहुंचे थे। जिसकी जरूरत है मैं वही मांग रहा हूं।’चंद्रबाबू नायडू ने आंध्र प्रदेश भवन में अपनी भूख हड़ताल शुरू कर दी है। उनकी भूख हड़ताल केंद्र सरकार के खिलाफ है क्योंकि सरकार ने आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा नहीं दिया।आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री ने राजघाट पर महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि दी। वह आज दिल्ली में आंध्र प्रदेश भवन में राज्य को विशेष राज्य का दर्जा दिलाने के लिए एक दिन की भूख हड़ताल पर बैठेंगे।गौरतलब है कि टीडीपी राज्य के बंटवारे के बाद आंध्र प्रदेश से किए गए अन्याय का विरोध करते हुए पिछले साल भाजपा नीत एनडीए से बाहर हो गई थी। एक आधिकारिक बयान में कहा गया है कि नायडू सोमवार को सुबह आठ बजे से रात आठ बजे तक आंध्र भवन में भूख हड़ताल पर बैठेंगे। वह 12 फरवरी को राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद को एक ज्ञापन भी सौंपेंगे।

मुख्यमंत्री अपने मंत्रियों, पार्टी के विधायकों, एमएलसी और सांसदों के साथ धरना पर हैं। राज्य कर्मचारी संघों, सामाजिक संगठनों और छात्र संगठनों के सदस्य भी इसमें शामिल होंगे।टीडीपी प्रमुख और आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन. चंद्रबाबू नायडू अपने राज्य को विशेष दर्जा दिलाने और राज्य पुनर्गठन अधिनियम, 2014 के तहत केंद्र द्वारा किए गए वादों को पूरा करने की मांग को लेकर आज दिल्ली में एक दिन की भूख हड़ताल पर हैं। अपने समर्थकों को लाने के लिए टीडीपी ने दो ट्रेनें भी बुक कराई है। धरने में उनके साथ नेशनल कांफ्रेस के फारूक अब्दुल्ला, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी देंगे। यह धरना आंध्र प्रदेश भवन में होगा।