उत्तर प्रदेश देश राजनीती होम

पुरुलिया में गरजे योगी- कहा- बीजेपी की सरकार बनी तो टीएमसी के गुंडे नहीं दिखेंगे

फोन पर रैली संबोधित कर चुके हैं योगी आदित्यनाथ

लोकसभा चुनाव से पहले देश में राजनीतिक माहौल गर्म है. रैलियों का दौर लगातार जारी है. इस बार जिस राज्य पर सभी की नजरें हैं वह पश्चिम बंगाल है, जहां पर तृणमूल कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी के बीच आर-पार की लड़ाई चल रही है. बंगाल की ममता बनर्जी सरकार ने बीते दिनों बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह, यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का हेलिकॉप्टर नहीं उतरने दिया तो अब बीजेपी ने इसका तोड़ निकाल लिया है.

योगी आदित्यनाथ सड़क मार्ग से पश्चिम बंगाल के पुरुलिया पहुंच चुके हैं. यहां उन्होंने जयश्रीराम के नारे से भाषण शुरू किया. योगी ने कहा कि बीजेपी के संस्थापक श्यामा प्रसाद मुखर्जी इसी बंगाल की धरती के हैं. इसलिए बंगाल की धरती तो बीजेपी की धरती होनी चाहिए. पश्चिम बंगाल की टीएमसी सरकार को लोकतांत्रिक मूल्यों पर विश्वास नहीं है.

योगी ने कहा कि चिटफंड घोटाले के आरोपियों को ममता बनर्जी बचा रही हैं. योगी ने सवाल किया कि उस भ्रष्ट अधिकारी के घर ममता बनर्जी क्यों बैठी हुई थीं. मोदी जी के नेतृत्व में हुए बदलाव से बंगाल अछूता रह गया था.

योगी ने कहा कि जिस दिन यहां बीजेपी की सरकार बन गई, उस दिन टीएमसी के गुंडे ठीक वैसे ही गले में तख्ती लगाकर चलेंगे जैसे यूपी में सपा-बसपा के गुंडे गले में तख्ती लगाकर जान की भीख मांगते हुए कहते हैं कि अब हम किसी को नहीं छेड़ेंगे. योगी ने कहा कि ममता बनर्जी ने मेरे हेलिकॉप्टर को यहां उतरने नहीं दिया, लेकिन मैं सड़क मार्ग से आप सबके बीच यहां आया हूं. मैं बंगाल की धरती को कोटि-कोटि नमन करता हूं. योगी ने अपना भाषण जय-जय श्रीराम के नारे से खत्म किया.

उत्तर प्रदेश विधानसभा के सत्र में शामिल होने के बाद योगी आदित्यनाथ झारखंड के बोकारो के लिए हेलिकॉप्टर से रवाना हुए, जिसके बाद सड़क के रास्ते वे पश्चिम बंगाल के पुरुलिया पहुंचे. दोपहर करीब 4 बजे योगी ने जनसभा को संबोधित करना शुरू किया.

लोकसभा चुनाव के तहत भारतीय जनता पार्टी पश्चिम बंगाल पर फोकस कर रही है. यही कारण है कि पार्टी के स्टार प्रचारक अपनी पूरी ताकत बंगाल में झोंक रहे हैं. आज योगी के अलावा मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी बंगाल में रैली करेंगे.

आपको बता दें कि 3 फरवरी को होने वाली योगी आदित्यनाथ की बालुरघाट, रायगंज रैली के लिए ममता सरकार ने हेलिकॉप्टर उतारने की मंजूरी नहीं दी थी. जिसके बाद उन्होंने फोन के जरिए ही रैली को संबोधित किया था. योगी आदित्यनाथ ने इसको लेकर ममता बनर्जी पर निशाना भी साधा था.

इससे पहले बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के हेलिकॉप्टर को मालदा में उतरने नहीं दिया गया था, हालांकि बाद में इजाजत मिली. बीजेपी इसको लेकर ममता सरकार पर काफी हमलावर है. बीजेपी का एक प्रतिनिधिमंडल सोमवार को चुनाव आयोग से भी इसको लेकर मुलाकात कर चुका है.

गौरतलब है कि बीजेपी इस मुद्दे पर टीएमसी पर पूरी तरह हमलावर है. मंगलवार को ही यूपी बीजेपी की ओर से ट्वीट करते हुए ममता बनर्जी पर निशाना साधा गया. इस ट्वीट में ममता बनर्जी को हिटलर दीदी बताया गया है.