उत्तर प्रदेश दिल्ली देश होम

दिल्ली-यूपी के 10 करोड़ से अधिक लोगों के लिए बड़ी खुशखबरी, सफर होगा आसान

दिल्ली-यूपी के 10 करोड़ से अधिक लोगों के लिए बड़ी खुशखबरी, सफर होगा आसान

नेशनल कैपिटल रीजन ट्रांसपोर्ट कॉरपोरेशन (एनसीआरटीसी) यानी हाईस्पीड (रैपिड) रेल के यार्ड के लिए गाजियाबाद के वसुंधरा सेक्टर आठ में जगह मिलते ही वसुंधरा रेड लाइट एनसीआर का सबसे बड़ा जंक्शन बनेगा। वसुंधरा चौराहे पर न सिर्फ रैपिड रेल बल्कि रोडवेज का साहिबाबाद डिपो और मेट्रो के भी दो स्टेशन बनेंगे।

मेरठ और पश्चिमी उत्तर प्रदेश से आने वाले यात्री वसुंधरा से न सिर्फ दिल्ली-एनसीआर में कहीं भी जाने के लिए मेट्रो ले सकेंगे, बल्कि पूरे उत्तर प्रदेश में कहीं भी बस से सफर कर सकेंगे। बिना स्टेशन से बाहर निकले यात्री मेट्रो से रैपिड रेल और बस अड्डे तक पहुंच सकेंगे। लिंक रोड के एक ओर रैपिड रेल का स्टेशन और बस अड्डा होगा तो दूसरी ओर मेट्रो के दोनों स्टेशन। अनुमान के मुताबिक, दिल्ली के साथ वेस्ट यूपी के दर्जन भर जिले के 10 करोड़ से अधिक लोग इसका फायदा उठा सकेंगे।रैपिड रेल प्रोजेक्ट निर्माण के पहले चरण में नेशनल कैपिटल रीजन ट्रांसपोर्ट कॉरपोरेशन (एनसीआरटीसी) ने पिछले दिनों वसुंधरा (साहिबाबाद) स्टेशन के डिजाइन तैयार करने के लिए टेंडर छोड़े थे। अब केंद्र सरकार ने बजट में रैपिड रेल के लिए एक हजार करोड़ रुपये देने पर मुहर लगा दी है। एनसीआरटीसी ने कंस्ट्रक्शन यार्ड के लिए वसुंधरा सेक्टर आठ में आवास विकास परिषद की करीब बीस एकड़ जमीन को लीज पर लिया गया है। रैपिड रेल दिल्ली के सराय काले खां से मेरठ तक जाएगी। यूपी गेट से गाजियाबाद में दाखिल होगी और लिंक रोड की ग्रीन बेल्ट से वसुंधरा रेड लाइट पहुंचेगी। यहां से अर्थला होती हुई गाजियाबाद पहुंचेगी। वहीं, साहिबाबाद स्टेशन का निर्माण वसुंधरा रेड लाइट पर किया जाना है। लिंक रोड के एक ओर रैपिड रेल दौड़ेगी तो दूसरी ओर की ग्रीन बेल्ट पर वैशाली से मोहननगर तक प्रस्तावित मेट्रो लाइन होगी। वसुंधरा रेड लाइट पर मेट्रो और हाईस्पीड के स्टेशन और रोडवेज का साहिबाबाद डिपो इंटरकनेक्ट होंगे।वसुंधरा से लोग जहां रैपिड रेल से दिल्ली-मेरठ का सफर महज 45 मिनट में पूरा कर सकेंगे। वहीं, नोएडा-साहिबाबाद मेट्रो लाइन का स्टेशन भी वसुंधरा रेड लाइट के पास प्रस्तावित है। वैशाली लाइन के मोहननगर तक विस्तार के दौरान भी एक स्टेशन यहीं बनेगा। इसके साथ ही मेरठ, दिल्ली, नोएडा से आने वाले लोग साहिबाबाद बस अड्डे से उत्तर प्रदेश के विभिन्न जिलों के लिए बस भी ले सकेंगे। ऐसे में जंक्शन बनने से न सिर्फ लोग रैपिड रेल, मेट्रो बल्कि यूपी रोडवेज की बसों से भी आसान सफर कर सकेंगे।मेट्रो और हाईस्पीड रेल के स्टेशन लिंक रोड के दोनों ओर बनाए जाएंगे। हाईस्पीड ट्रेन का स्टेशन रोडवेज बस डिपो के ऊपर ही बनेगा। ऐसे में दोनों स्टेशन और बस डिपो को इंटरक्नेक्टेड करने का निर्णय लिया गया है। इन्हें जोड़ने के लिए एनसीआरटीसी ने एफओबी बनाने का निर्णय लिया है। एफओबी के जरिए वैशाली मेट्रो से आने वाले यात्री सीधे रैपिड रेल के स्टेशन में एंट्री कर सकेंगे। इसी तरह बस से साहिबाबाद बस अड्डे पहुंचने वाले यात्री एफओबी से सीधे रैपिड रेल के स्टेशन अथवा मेट्रो स्टेशन में एंट्री कर सकेंगे। उन्हें बस अड्डे से बाहर निकलने की जरूरत नहीं होगी। स्टेशन और बस अड्डे के अंदर से ही दूसरे स्टेशन जाने के लिए एंट्री प्वाइंट बनाया जाएगा।