उत्तर प्रदेश देश राजनीती होम

वोट करने से पहले लोग प्रियंका गांधी में देखेंगे इंदिरा की छवि: शिवसेना

वोट करने से पहले लोग प्रियंका गांधी में देखेंगे इंदिरा की छवि: शिवसेना

जानकार मानते हैं कि सक्रिय राजनीति में प्रियंका गांधी के उतरने से कांग्रेस को निश्चित तौर पर 2019 के लोकसभा चुनावों में फायदा पहुंचने वाला है. केंद्र में मोदी सरकार की सहयोगी पार्टी शिवसेना का भी यही मानना है. प्रियंका गांधी को पूर्वी उत्तर प्रदेश संभालने की जिम्मेदारी देने की औपचारिक घोषणा होने के बाद शिवसेना का कहना है कि उनकी शख्सियत काफी अच्छी है और उनमें इंदिरा गांधी की विशेषताएं मिलती हैं.

कांग्रेस ने औपचारिक तौर पर पूर्वी उत्तर प्रदेश का महासचिव नियुक्त किया है. लंबे वक्त से ऐसी अटकलें लगाई जा रही थीं कि प्रियंका गांधी सक्रिय राजनीति में उतर सकती हैं. शिवसेना के प्रवक्ता मनीषा कायंदे ने कहा कि प्रियंका अगर सक्रिय रूप से राजनीति में आती हैं तो कांग्रेस को जाहिर तौर पर फायदा पहुंचेगा.शिवसेना की प्रवक्ता मनीषा कायन्दे ने कहा, ‘उनके अच्छे व्यक्तित्व, खुद को पेश करने के तरीके और मतदाताओं से जोड़ने के कौशल से कांग्रेस को फायदा होगा. उनमें उनकी दादी के गुण हैं.प्रियंका गांधी की राजनीति में दखल के बाद उत्तर प्रदेश की राजनीति में कांग्रेस को सियासी फायदा पहुंचना तय है. हालांकि सपा-बसपा गठबंधन पर उन्होंने कहा कि इससे ज्यादा असर नहीं पड़ेगा. दोनों पार्टियों के पास यादव, दलित और मुस्लिम का फिक्स वोटबैंक है. हालांकि प्रियंका गांधी की दखल से कांग्रेस पार्टी के सदस्यों में उत्साह बढ़ेगा.

मलिक ने कहा, ‘कांग्रेस प्रिंयका की साफ-सुथरी छवि को चुनाव में भुना सकती है. इसके चलते उत्तर प्रदेश में 20-21 सीटें आसानी से निकल जाएंगी. ठीक उसी तरह जैसे 2009 के चुनावों में कांग्रेस को जीत मिली थी.’