उत्तर प्रदेश देश होम

यूपी बोर्ड परीक्षा: नकल माफियाओं पर नकेल की तैयारी, नहीं हो सकेगा कॉपियां बदलने का खेल

यूपी बोर्ड परीक्षा: नकल माफियाओं पर नकेल की तैयारी, नहीं हो सकेगा कॉपियां बदलने का खेल

यूपी बोर्ड परीक्षा के लिए प्रश्नपत्र पहुंचने का सिलसिला शुरू हो चुका है. वहीं सभी जिलों में संवेदनशील और अतिसंवेदनशील केंद्रों की निगरानी के लिए भी विशेष तैयारी की जा रही है. 7 फरवरी से शुरू होने वाली यूपी बोर्ड परीक्षा में इस साल 58 लाख से अधिक छात्र-छात्राएं पंजीकृत हैं. वहीं परीक्षा को नकलविहीन बनाने के लिए एसटीएफ को भी अलर्ट कर दिया गया है.इस बार परीक्षा को नकलविहीन बनाने के लिए प्रत्येक कक्ष में दो-दो सीसीटीवी कैमरे और वॉयस रिकॉर्डर लगवाए गए हैं. इसके चलते कोई बोल कर भी नकल नहीं करा पाएगा. 2018 की परीक्षा में प्रदेश के 50 जिलों में कोडिंग वाली आंसर शीट का इस्तेमाल किया गया था. लेकिन इस साल सभी 75 जिलों में कोडिंग वाली आंसरशीट्स भेजी जा रही हैं. अधिकारियों का दावा है कि इनके इस्तेमाल से नकल माफिया कॉपियां बदलने का खेल नहीं खेल पाएंगे. राजधानी लखनऊ समेत तमाम जिलों में परीक्षा के प्रश्नपत्र पहुंचने शुरू हो चुके हैं.बात अगर राजधानी लखनऊ की करें तो यहां राजकीय जुबिली इंटर कॉलेज में प्रश्नपत्रों को कड़ी सुरक्षा में रखा गया है. जहां प्रश्नपत्र रखे गए हैं, वहां 24 घंटे सीसीटीवी कैमरों से रिकॉर्डिंग होने के साथ ही पुलिस भी तैनात है. इसके अलावा लखनऊ में 5 हजार कक्ष निरीक्षकों की परीक्षा में ड्यूटी लगाने के साथ ही करीब 1 हजार कक्ष निरीक्षक बैकअप में पूल बनाकर रखे गए हैं. इससे कक्ष निरीक्षकों की कमी नहीं होगी.

लखनऊ के डीआईओएस डॉ मुकेश कुमार सिंह बताते हैं कि इतना ही नहीं लखनऊ में कक्ष निरीक्षकों की ड्यूटी उनके नाम से लगाई जा रही है. इसके अलावा इस बार सभी कक्ष निरीक्षकों को परीक्षा शुरू होने से एक हफ्ता पहले ही ड्यूटी चार्ट दे दिया जाएगा. इससे कक्ष निरीक्षकों को पहले ही पता रहेगा कि उनको किस तारीख पर किस शिफ्ट में ड्यूटी करनी है. पिछले साल तक कई बार कक्ष निरीक्षकों को परीक्षा से एक दिन पहले ड्यूटी बताई जाती थी.

बोर्ड परीक्षा एक नजर में 

– 7 फरवरी से शुरू होंगी यूपी बोर्ड की परीक्षाएं
– इस साल प्रदेश के 8,354 परीक्षा केंद्रों पर 58,06,922 छात्र-छात्राएं पंजीकृत
– प्रदेश में हाईस्कूल में 31,95,603 और इंटर में 26,11,319 छात्र-छात्राएं पंजीकृत
– लखनऊ में 112 परीक्षा केंद्रों पर 1,00,078 छात्र-छात्राएं पंजीकृत
– लखनऊ में हाईस्कूल के 55,801 और इंटर के 44,277 छात्र-छात्राएं पंजीकृत
– लखनऊ में 14 अति संवेदनशील और 35 संवेदनशील परीक्षा केंद्र
– सभी परीक्षा कक्षों में दो-दो सीसीटीवी कैमरे और वायर रिकॉर्डर
– सभी जिलों में इस्तेमाल होंगी कोडिंग वाली आंसरशीट्स
– परीक्षा को नकलविहीन कराने के लिए एसटीएफ भी अलर्ट