देश होम

गणतंत्र दिवस परेड में पहली बार शामिल होंगे नेताजी की आजाद हिंद फौज के सैनिक

इस साल परेड में ज्यादा महिलाएं लेंगी हिस्सा।

70वें गणतंत्र दिवस की परेड में नेताजी सुभाष चंद्र बोस की आजाद हिन्द फौज (आईएनए) के सैनिक पहली बार शामिल होंगे। नेताजी की फौज के चार पूर्व सैनिक परेड में हिस्सा लेंगे। इन सभी की उम्र 90 साल से अधिक है। वहीं, इस बार परेड में असम राइफल की अगुवाई में ‘नारी शक्ति’ की भी झलक दिखेगी। इसके अलावा राजपथ पर एक महिला अफसर बाइक स्टंट भी करती दिखेगी।

इस बार ज्यादा महिलाएं हिस्सा लेंगी

  1. सेना के दिल्ली क्षेत्र के चीफ ऑफ स्टॉफ मेजर जनरल राजपाल पूनिया ने बताया कि आईएनए के चार पूर्व सैनिक लालतीराम (98), परमानंद (99), हीरा सिंह (97), और भागमल (95) खुली जीप में परेड में शामिल होंगे।
  2. मेजर पूनिया ने बताया, ”इस बार की परेड की विशेषता यह है कि इसमें नारी शक्ति की मौजूदगी पिछले वर्षों की तुलना में कहीं अधिक होगी। तीनों सेनाओं के मार्चिंग दस्ते की कमांडर महिला अधिकारी होंगी और असम राइफल्स का एक महिला दस्ता भी परेड में अपने कौशल दिखाएगा।”
  3. उन्होंने बताया, ”अमेरिका से खरीदी एम-777 अल्ट्रा लाइट होवित्जर तोप और मेक इन इंडिया के तहत देश में ही बनी के-9 वज्र तोप पहली बार राजपथ पर सेना की ताकत की झलक पेश करेगी। के-9 वज्र तोप को लार्सन और टूब्रो ने बनाया है।”
  4. मेजर के मुताबिक, डीआरडीओ द्वारा बनी मध्यम दूरी की सतह से हवा में मार करने वाली मिसाइल और बख्तरबंद रिकवरी वाहन अर्जुन भी पहली बार परेड में शामिल होंगे। इसके अलावा जैव ईंधन से उड़ने वाला वायु सेना का मालवाहक विमान ए एन-32 भी राजपथ से गुजरेगा।
  5. उन्होंने बताया, “इस बार परेड में हाथी पर सवार बहादुर बच्चों की झांकी नहीं दिखाई देगी। उनकी जगह प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरस्कार से सम्मानित 26 बच्चे जीप में सवार होकर गुजरेंगे। इन बच्चों को शैक्षणिक, खेल, बहादुरी और नवाचार जैसे 6 क्षेत्रों से चुना गया है।”
  6. मेजर पूनिया ने कहा कि परेड में सशस्त्र सेनाओं, अर्द्ध सैनिक बलाें, दिल्ली पुलिस, एनसीसी और एनएसस के 16 मार्चिंग दस्तों के साथ 16 बैंड भी हिस्सा लेंगे। साथ ही राज्यों, केन्द्र शासित प्रदेशों और मंत्रालयों की 22 झांकियां भी राजपथ पर नजर आएंगी।
  7. सुबह 10 बजे शुरू होगी परेड

    उन्होंने बताया- परेड की शुरुआत सुबह दस बजे विजय चौक से होगी और राजपथ से होते हुए लगभग डेढ घंटे बाद इसका समापन लाल किले पर होगा। इससे पहले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण की मौजूदगी में इंडिया गेट स्थित अमर जवान ज्योति पर शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित करेंगे। परेड शुरू होने से पहले सेना का एम आई -17 हेलिकाॅप्टर राजपथ और सलामी मंच पर पुष्प वर्षा करते हुए गुजरेगा। इसके बाद परेड कमांडर राष्ट्रपति को सलामी देंगे।