देश राजनीती होम

मंत्री जायसवाल के बंगले पर बसपा विधायक का कब्जा, पीडब्लूडी की आपत्ति के बाद छोड़ा

पथरिया से बसपा विधायक रामबाई।

दमोह के पथरिया से बसपा विधायक राम बाई के के समर्थकों ने भोपाल में मंत्री प्रदीप जायसवाल को आवंटित बंगले पर कब्जा कर लिया, हालांकि पीडब्लूडी की आपत्ति पर उन्होंने बुधवार सुबह इस पर लगा अपना ताला हटा लिया है, लेकिन विधायक अब जिद कर रही हैं कि उन्हें अब यही बंगला चाहिए है।

पथरिया की बसपा विधायक राम बाई के लोगों ने 74 बंगले के बी-12 बंगले पर ताला मार दिया। इसके पहले विधायक रामबाई खुद एक दिन 74 बंगले आई थीं और खाली बंगलों के बारे में पूछताछ की थी। बी-12 बंगले को पहले मंत्री कमलेश्वर पटेल को आवंटित किया गया था, उन्होंने इसे नहीं लिया तो मंत्री प्रदीप जायसवाल को एलॉट कर दिया गया। बंगले में पीडब्ल्यूडी ने रेनोवेशन का काम भी कराया है।

 

बताया जा रहा है कि सोमवार को पथरिया विधायक के समर्थक यहां आए और उन्होंने बंगले में ताला लगा दिया। तब से ही इस बंगले में ताला लगा हुआ है। हालांकि इसकी सूचना जैसे ही पीडब्ल्यूडी को लगी तो उनकी आपत्ति के बाद बुधवार को बंगले का ताला खोल दिया गया। बता दें कि राम बाई ने कमलनाथ सरकार को चेतावनी दी है कि उन्हें मंत्री बनाया जाए, वरना कांग्रेस सरकार का हाल कर्नाटक जैसा हो सकता है।

 

भाजपा प्रवक्ता हितेश वाजपेयी का कहना है कि कांग्रेस सरकार आने के बाद अराजकता का माहौल हो जाता है। अपराध बढ़ जाते हैं। बसपा विधायक का एक बंगले पर कब्जा किया जाना इसका उदाहरण है। वहीं, कांग्रेस नेता मानक अग्रवाल का कहना है कि बसपा विधायक रामबाई से पूछा जाना चाहिए कि उन्होंने उस बंगले पर ताला क्यों लगवाया। ये जांच का विषय है कि उन्होंने ऐसा क्यों किया।

उस बंगले पर हमने अपनी मर्जी से ताला नहीं लगवाया। हमें मुख्यमंत्री कमलनाथ, पीडब्ल्यूडी मंत्री सज्जन वर्मा और विधानसभा अध्यक्ष एनपी प्रजापति ने कहा था कि जिस बंगले को चाहो ले लो। अपना सामान रख दो और ताला लगा दो। तभी हमने वहां पर ताला लगवाया था। अब वही बंगला मुझे चाहिए।

रामबाई, बसपा विधायक पथरिया