देश राजनीती होम

बिहार महागठबंधन में दिखी दरार, कांग्रेस में जा सकते हैं RJD के ये 3 पूर्व नेता

नई दिल्ली। 2019 के लोकसभा चुनाव को लेकर यूपी में अखिलेश यादव और मायावती के महागठबंधन के ऐलान के बाद अब सियासी निगाहें बिहार में बनने वाले महागठबंधन पर टिक गई हैं। हालांकि फिलहाल जिस तरह खबरें सामने आ रही हैं, उनसे गठन के पहले ही महागठबंधन में दरार पड़ती हुई नजर आ रही है। सीट शेयरिंग को लेकर कांग्रेस और आरजेडी के बीच पेंच फंसने की खबरों के बाद अब एक और मुद्दे पर लालू प्रसाद यादव की पार्टी ने अपनी नाराजगी जाहिर की है। दरअसल राष्ट्रीय जनता दल के तीन पूर्व दिग्गज नेता लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस में शामिल होने की तैयारी में हैं, जिसे लेकर आरजेडी ने कांग्रेस आलाकमान से अपनी नाराजगी जाहिर कर दी है।

सीट बंटवारे को लेकर पहले से चल रही रस्साकशी के बीच अब आरजेडी ने अपने पूर्व तीन नेताओं के कांग्रेस में शामिल होने की खबरों को लेकर पार्टी के समक्ष नाराजगी जताई है। आरजेडी के एक नेता ने बताया कि उनकी पार्टी उन खबरों को लेकर नाराज है, जिनमें पप्पू यादव, लवली आनंद, और अनंत सिंह के कांग्रेस में शामिल होने और पार्टी की तरफ से उन्हें 2019 के लोकसभा चुनाव का टिकट जाने की बात चल रही है। आरजेडी नेता के मुताबिक, उनकी पार्टी ने कांग्रेस नेतृत्व के समझ इन दागी नेताओं को लेकर अपनी नाराजगी से अवगत करा दिया है।

आपको बता दें कि आरजेडी ने इस मुद्दे पर ऐसे समय में अपनी नाराजगी जाहिर की है, जब महागठबंधन में प्रदेश कांग्रेस के नेताओं की तरफ से दोनों दलों को (आरजेडी और कांग्रेस) बराबर-बराबर सीटें दिए जाने की मांग उठ रही है। यूपी (80 लोकसभा सीट), महाराष्ट्र (48 लोकसभा सीट) और पश्चिम बंगाल (42 लोकसभा सीट) के बाद 40 लोकसभा सीटों वाला बिहार चौथा बड़ा राज्य है, जहां केंद्र की भाजपा सरकार को सत्ता से हटाने के लिए विपक्ष एकजुट होने की कोशिशों में लगा है। 2014 के लोकसभा चुनाव में भाजपा ने बिहार की 40 में से 22 सीटों पर जीत हासिल कर केंद्र की सत्ता में वापसी की थी।