देश राजनीती होम

जींद उपचुनाव उड़ा देगा बीजेपी, कांग्रेस और इनेलो की नींद

अहमद पटेल से जयप्रकाश उर्फ जेपी चौटाला ने की मुलाकात(फोटो-आजतक)

खेती-किसानी के साथ विकास की दौड़ में जब हुक्का जगह-जगह गुड़गुड़ाता दिखे, तो समझ जाइए कि आप हरियाणा में हैं. हरियाणा की धरती पर एक वक्त तीन लालों का दबदबा था- भजनलाल, बंसीलाल और देवीलाल. लेकिन आज देवीलाल परिवार विरासत की जंग से जूझ रहा है और जींद के उपचुनाव का फैसला तय करने वाला है कि देवीलाल की विरासत किसकी होगी.

दरअसल, देवीलाल ने अपनी विरासत ओमप्रकाश चौटाला को सौंपी थी, लेकिन अब ओमप्रकाश चौटाला के बेटे अजय और अभय आमने-सामने आ गए हैं. ओमप्रकाश चौटाला ने अपनी पार्टी इंडियन नेशनल लोकदल (इनेलो) की कमान अपने बेटे अभय चौटाला के सुपुर्द कर दी तो अजय ने नई जननायक जनता पार्टी बना ली.

इसके बाद अजय चौटाला के छोटे बेटे दिग्विजय ने पार्टी बनने के बाद जींद उपचुनाव से ताल ठोंककर दादा देवीलाल की विरासत पर अपना दावा भी ठोंक दिया. कप-प्लेट चुनाव चिन्ह लेकर वह इनेलो के ऐनक चुनाव चिन्ह के खिलाफ मैदान में हैं.

जाटलैंड में दिग्विजय दावा करते हैं कि देवीलाल युगपुरुष थे और जींद की विरासत पर हक को लेकर जनता जबाब देगी. वैसे दिग्विजय चुटकी लेना नहीं भूलते कि चुनाव नतीजे आएंगे तो उनके दादा ओपी चौटाला को भी सुकून होगा.