देश राजनीती होम

कर्नाटक का नाटक: रिजॉर्ट में कांग्रेस विधायकों के बीच मारपीट तक पहुंचा सियासी ड्रामा

कर्नाटक का नाटक: रिजॉर्ट में कांग्रेस विधायकों के बीच मारपीट तक पहुंचा सियासी ड्रामा

कर्नाटक में अपने विधायकों को रिजॉर्ट ले जाने के बाद भी कांग्रेस को राहत मिलती नहीं दिख रही है। भाजपा द्वारा कांग्रेस विधायकों को तोड़ने के आरोपों के बीच राज्य का सियासी ड्रामा विधायकों के बीच मारपीट तक पहुंच गया है। कांग्रेस के दो विधायक आनंद सिंह और जेएन गणेश रिजॉर्ट में ही आपस में भिड़ गए।

यह झगड़ा इतना खतरनाक हो गया कि सिर में चोट लगने के चलते आनंद सिंह को बेंगलुरु के एक अस्पताल में भर्ती करना पड़ा है। कांग्रेस सूत्रों के मुताबिक, गणेश ने आनंद सिंह के सिर पर बोतल दे मारी जिससे वह घायल हो गए। भाजपा के कथित प्रलोभन से बचाने के लिए पार्टी ने अपने विधायकों को इगलटन रिजॉर्ट में भेज दिया है।

विधायक दल की बैठक से गैरहाजिर रहने वाले अपने चार विधायकों को कांग्रेस ने कारण बताओ नोटिस जारी किया है। इस बीच, भाजपा के विधायक गुरुग्राम से कर्नाटक लौट आए हैं।

खबरों के अनुसार, सिंह कांग्रेस के अन्य असंतुष्ट विधायकों के संपर्क में थे और भाजपा जाने की तैयारी कर रहे थे। हालांकि, कांग्रेस का कहना है कि दोनों विधायकों की मारपीट निजी कारणों से हुई और राजनीति से इसका कोई लेना-देना नहीं है। पार्टी प्रवक्ता मधु गौड़ यक्षी ने कहा कि दोनों विधायक एक ही जिले से आते हैं और दोनों के व्यापारिक रिश्ते हैं। मारपीट की वजह शायद आपसी कारोबार ही है।

पुलिस ने बताया कि अभी तक किसी ने घटना की शिकायत नहीं की है। हालांकि, सुरक्षा के लिहाज से अस्पताल के बाहर पुलिस को तैनात कर दिया गया है और किसी बाहरी व्यक्ति को अंदर जाने नहीं दिया जा रहा है। कांग्रेस ने अपने चार विधायकों को नोटिस भेजकर पूछा है कि दल-बदल विरोधी कानून के तहत उनके खिलाफ कार्रवाई क्यों न की जाए?

जिन विधायकों को नोटिस भेजा गया है, उनमें रमेश जारकीहोली, बी नागेंद्र, उमेश जाधव और महेश कुमाताहल्ली शामिल हैं। शुक्रवार को हुई विधायक दल की बैठक में ये विधायक शामिल नहीं हुए थे। जारकीहोली को हाल ही में मंत्री पद से हटाया गया था और वह इससे नाखुश बताए जा रहे थे।कांग्रेस की अंदरूनी कलह पर तंज कसते हुए भाजपा ने ट्वीट किया कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि प्रदेश अध्यक्ष दिनेश गुंडु राव रिजॉर्ट भेजने के बाद भी विधायकों की मारपीट नहीं रोक पा रहे हैं। हमें उम्मीद है कि अनंत सिंह का सही तरीके से इलाज होगा और हम उनके शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करते हैं। दुर्भाग्य से गुंडु राव इसके लिए भाजपा पर आरोप भी नहीं लगा सकते हैं, क्योंकि विधायक खुद उनकी निगरानी में रिजॉर्ट में थे। हालांकि, वरिष्ठ मंत्री डीके शिवकुमार ने मारपीट की घटना को गलत बताते हुए कहा है कि पूरी पार्टी एकजुट है।कर्नाटक में जारी राजनीतिक घमासान के बीच एक और खबर ने विवाद खड़ा कर दिया है। कहा जा रहा है कि कांग्रेस के विधायक बिराठी सुरेश ने पूर्व मुख्यमंत्री सिद्दरमैया को गिफ्ट के तौर पर एक लक्जरी कार दी है। हालांकि, कांग्रेस नेता और मंत्री डीके शिवकुमार ने कहा कि सिद्दरमैया को सुरेश ने मर्सिडीज-बेंज कार गिफ्ट में नहीं दी है। यह उनकी यात्रा के लिए दी गई थी। हम कभी-कभी यात्रा करने के लिए अपने दोस्तों का वाहन ले जाते हैं। इसमें कोई समस्या नहीं है।

मारपीट में घायल कांग्रेस विधायक आनंद सिंह की पत्नी लक्ष्मी ने इस मामले में कानूनी कार्रवाई की चेतावनी दी है। मुंबई से टेलीफोन पर बात करते हुए उन्होंने कहा कि यदि यह सच है कि गणेश ने मेरे पति के साथ मारपीट की है, तो मैं और मेरे बच्चे चुप नहीं बैठेंगे और हम उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई करेंगे। यह पूछे जाने पर कि क्या हाल के दिनों में दोनों में कोई लड़ाई-झगड़ा भी हुआ था, लक्ष्मी ने कहा कि नहीं। दोनों अच्छे मित्र हैं। हालांकि, कांग्रेस विधायक दल की पिछली बैठक में उनकी (आनंद सिंह) एक अन्य विधायक भीमा नाइक से तेज बहस हुई थी।