उत्तर प्रदेश देश होम

यूपी: प्रदेश भर में बनेंगे 21 अत्याधुनिक व हाईटेक बस अड्डे

Alambagh bus terminal

आलमबाग बस टर्मिनल की तर्ज पर लखनऊ में तीन और प्रदेश भर में 21 अत्याधुनिक व हाईटेक बस अड्डे बनेंगे। राजधानी के तीन बस अड्डों में गोमतीनगर के विभूति खंड स्थित परिवहन निगम कार्यशाला, अमौसी उपनगरीय डिपो की कार्यशाला व चारबाग बस अड्डा शामिल हैं। ये बस अड्डे प्राइवेट पब्लिक पार्टनर (पीपीपी) मॉडल पर विकसित किया जाएगा।

गाजियाबाद क्षेत्र का कौशाम्बी बस स्टेशन, साहिबाबाद बस अड्डा, गाजियाबाद शहर का बस अड्डा, वाराणसी कैंटोनमेंट, प्रयागराज सिविल लाइंस, प्रयागराज जीरो रोड, गोरखपुर, आगरा क्षेत्र का ईदगाह, आगरा फोर्ट, आगरा ट्रांसपोर्टनगर, कानपुर सेंट्रल बस स्टेशन, मेरठ भैंसाली, मेरठ सोहराब गेट, बरेली सैटेलाइट, अलीगढ़ रसूलाबाद, अयोध्या, मथुरा, रायबरेली, बुलंदशहर और गढ़मुक्तेश्वर में भी अत्याधुनिक व हाईटेक बस अड्डे बनेंगे।

इन बस अड्डों पर आने वाले यात्री शापिंग के साथ बस यात्रा भी कर सकेंगे। इस संबंध में परिवहन निगम की ओर से तैयार किए प्रस्ताव पर बोर्ड ने मंजूरी दे दी है। नियम शर्तों के मुताबिक टेंडर प्रक्रिया खत्म होने के तीन वर्ष के भीतर सभी बस अड्डे विकसित करने होंगे।

गोमतीनगर से पूर्वांचल क्षेत्र की बसें मिलेंगी
गोमतीनगर रेलवे स्टेशन से ठीक सामने बस अड्डा बनेगा। यहां से पूर्वांचल क्षेत्र के बीच आवागमन करने वाली 170 बसों का संचालन होगा। यात्रियों को यहां से फैजाबाद, अयोध्या, बस्ती, खलिलाबाद, गोरखपुर, सनौली, नेपाल तक की बसें उपलब्ध होंगी। इसके अलावा टांडा, अकबरपुर, आजमगढ़, गाजीपुर, बलिया की बस सेवाएं चलेंगी। वहीं आधा दर्जन एसी बसें दिल्ली रूट पर भी संचालित होंगी।

चारबाग से ट्रेन के समय सारणी पर बसें चलेंगी।
चारबाग रेलवे स्टेशन के ठीक सामने चारबाग बस अड्डा बनेगा। वर्तमान में यहां से छोटी दूरी की बसें संचालित की जा रही है। पीपीपी मॉडल पर बस अड्डा  विकसित होने के बाद ट्रेन के समय सारणी पर बसों का संचालन किया जाएगा। ऐसे में यहां से यात्रियों को प्रदेश व अन्य राज्यों के लिए बसें उपलब्ध होंगी। इस बस अड्डे पर यूपी रोडवेज की दो सौ बसों के अलावा अन्य राज्यों की बसें उपलब्ध होंगी।

एयरपोर्ट के सामने से अन्य राज्यों की बसें संचालित होंगी
एयरपोर्ट के सामने अमौसी बस डिपो से लंबी दूरी के साथ अन्य राज्यों की बसें संचालित होंगी। इनमें दिल्ली के अलावा अन्य राज्यों के बीच हुए बस समझौते के अनुसार बसें संचालित करने की योजना है। निगम अधिकारियों के मुताबिक हरियाणा, पंजाब, राजस्थान, उत्तराखंड, हिमांचल प्रदेश व जम्मू कश्मीर परिवहन की बसें उपलब्ध होंगी। लंबी दूरी की बसों की समय सारणी उड़ानों के अनुसार भी संचालित करने की योजना है।

सिटी ट्रांसपोर्ट को डिपो व कार्यालय खाली करना होगा
सिटी ट्रांसपोर्ट को चारबाग बस अड्डा स्थित कैंप कार्यालय व गोमतीनगर बस डिपो से सिटी बसें हटाना होगा। इस संबंध में परिवहन निगम ने एक पत्र सिटी ट्रांसपोर्ट को भेजा है। जहां सिटी बस डिपो और कैंप कार्यालय खाली करने के निर्देश दिए गए है। सिटी ट्रांसपोर्ट के एमडी के आरिफ सकलैन ने बताया कि सिटी ट्रांसपोर्ट के लिए बस डिपो और कार्यालय बनाने की जगह नहीं मिली तो सड़क पर आ जाएंगे। हलांकि, वृंदावन आवास योजना के तहत सात एकड़ जमीन पर सिटी बस डिपो व कैंप कार्यालय बनाने की योजना है।

लखनऊ परिक्षेत्र में होंगे नौ बस अड्डे
लखनऊ परिक्षेत्र के अंतर्गत आने वाले दिनों में दस बस अड्डे होंगे। वर्तमान में चारबाग, आलमबाग, कैसरबाग, अवध डिपो, हैदरगढ़ डिपो, बाराबंकी डिपो, रायबरेली डिपो के अलावा गोमतीनगर व अमौसी बस अड्डा भी शामिल होगा।

यूपीएसआरटीसी के प्रबंध निदेशक पी गुरु प्रसाद ने बताया कि पीपीपी मॉडल पर बस अड्डे को विकसित करने की कार्ययोजना पर चर्चा करके प्रस्ताव मंजूर कर लिया गया है। बिल्डरों की ओर से दिए गए आरएफपी यानी रिक्वेस्ट आफ प्रपोजल पर अभी निर्णय नहीं लिया गया है। इस संबंध में एक प्रस्ताव शासन भेजकर कुछ शर्तो के साथ निर्णय लिया जाएगा।