उत्तर प्रदेश देश होम

लखनऊ पीजीआई में आयुष्मान योजना से होगा इलाज

पीजीआई में प्रधानमंत्री आयुष्मान योजना के तहत मरीजों का नि: शुल्क इलाज मिलेगा। सरकार ने पीजीआई में योजना लागू करने के लिए एक करोड़ रुपये का तोहफा दिया है। अफसरों ने फरवरी से योजना के तहत मरीजों की भर्ती शुरू करने दावा किया है। दिल, गुर्दा, पेट, कैंसर समेत अन्य बीमारियों के मरीजों को इसका लाभ मिलेगा।

आयुष्मान योजना के तहत बीमारियों के लिए निर्धारित दरें पीजीआई से काफी कम थीं, जिसके चलते पीजीआई ने योजना लागू करने में असमर्थता जाहिर की थी। यही वजह है कि अब तक योजना पीजीआई में लागू नहीं हो सकी। पीजीआई अधिकारियों ने योजना लागू करने के लिए अतिरिक्त बजट की मांग की थी ताकि इलाज पर आने वाले खर्च की कमी को इस बजट से पूरा किया जा सके। सरकार अब योजना के तहत निर्धारित दर से अधिक का भुगतान खुद करेगी।

भर्ती होने पर मिलेगा योजना का लाभ
पीजीआई निदेशक डॉ. राकेश कपूर ने बताया कि आयुष्मान योजना के तहत मरीजों को इसका लाभ भर्ती होने पर ही मिलेगा। शुरुआत में मरीज को रजिस्ट्रेशन से लेकर जांचें आदि खुद के पैसे से करानी होंगी। योजना के तहत आने वाली बीमारियों की पुष्टि होने के बाद जब मरीज पीजीआई में भर्ती हो जायेगा। उसके बाद उस मरीज को  योजना के तहत मुफ्त इलाज मिलेगा।

पीजीआई में खुला काउंटर
पीजीआई ने आयुष्मान योजना के तहत तीन काउंटर खोल गए हैं। इन काउंटरों पर आयुष्मान मित्र तैनात किए जा चुके हैं। इस योजना के तहत इलाज हेतु आने वाले लोगों को काउंटर पर मौजूद कर्मचारी योजना से जुड़ी जरूरी जानकारी मुहैया करा रहे हैं।

जल्द मिलेगा इलाज

डॉ. राकेश कपूर ने बताया कि सरकार की मदद से आयुष्मान योजना के तहत मरीजों का इलाज संभव हुआ है। अब पीजीआई में प्रधानमंत्री आयुष्मान योजना के तहत मरीजों का इलाज शुरू होने जा रहा है। योजना से जुड़े पात्र मरीजों का रिकार्ड व अन्य दस्तावेज जुटा लिये हैं। संस्थान इस दिशा में काम कर रहा है।