उत्तर प्रदेश देश होम

गोली मारकर तड़पती बेटी को जिंदा दफनाया था, कहानी सुनकर रात भर नहीं सो सके थे पुलिस अधिकारी

गोली मारकर तड़पती बेटी को जिंदा दफनाया था, कहानी सुनकर रात भर नहीं सो सके थे पुलिस अधिकारी

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से ऑनर किलिंग के उस मामले में हर किसी का दिल दहला दिया था जब प्रेम प्रसंग के चलते एक 16 साल की नाबालिग लड़की की उसी के घरवालों ने बेरहमी से हत्या कर दी थी. पुलिस को हत्या की भनक न लगे इसके लिए चाल भी चली गई, लेकिन पुलिस की तेजी के आगे उनकी एक न चली और हत्या का राज खुल गया.

पुलिस के मुताबिक यह मामला आंबेडकर जिले के जहांगीर गंज थाना क्षेत्र के बसहिया गांव का था. यहां रहने वाली 16 वर्षीय दीपांजलि एक लड़के से प्यार करती थी, लेकिन घरवालों को उसका ये रिश्ता बिल्कुल भी मंजूर नहीं था. घरवालों ने विरोध करना शुरू किया तो लड़की घर से भाग गई.

दीपांजलि 10 दिन घर से बाहर रही. इसके बाद जब वह लौटकर आई तो घरवालों ने उसे सबक सिखाने के लिए एक खौफनाक साजिश बना डाली. दीपांजलि के पिता और भाई ने उसे गोली मार दी. गोली मारने के बाद बाप भाई उसे तड़पता देखते रहे. हत्या का रहस्य उजागर न हो इसके लिए दीपांजलि का शव एक सुनसान जगह पर दफना दिया. इसके बाद उसके पिता और भाई पुलिस स्टेशन पहुंचे और फिर एक बार गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराने लगे.दीपांजलि जब पहली बार घर से भागी थी, तब उसके भाई ने गांव के 4 लोगों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया था. लेकिन तब पुलिस ने दीपांजलि को खोज निकाला और उसके घर वालों को सौंप दिया. पुलिस ने एक दिन पहले ही दीपांजलि को उसके परिवार के पास सौंपा था. दीपांजलि के इतनी जल्दी घर से भागने की बात सुनकर पुलिस को शक हो गया.

जब दीपांजलि के भाई से पूछताछ की तो सच्चाई सामने आ गई. पुलिस के सामने दीपांजलि के भाई ने जो खुलासा किया उसने सबको शॉक्ड कर दिया. पुलिस अधिकारी ने बताया कि जब उन्होंने हत्या की कहानी सुनी तो उन्हें रात भर नींद नहीं आई. पुलिस ने नाबालिग का शव बरामद कर लिया है. हालांकि उसका पूरा परिवार फरार हो चुका है. फिलहाल पुलिस उनकी तलाश कर रही है.