उत्तराखंड देश होम

झोपड़ी में चल रहा था सिलेंडर रीफिलिंग का धंधा, टीम ने धर दबोचा

झोपड़ी में चल रहा था सिलेंडर रीफिलिंग का धंधा, टीम ने धर दबोचा

हल्द्वानी: खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले विभाग ने मंगलवार को हल्द्वानी ब्लॉक कार्यालय के समीप छापा मारकर घरेलू गैस सिलेंडर से अवैध रीफिलिंग का भंडाफोड़ किया। एक खाली प्लॉट पर झोपड़ी बनाकर घरेलू एलपीजी सिलेंडर से तीन व पांच किलो के छोटे सिलेंडरों व ऑटो के किट में गैस भरने का धंधा चलाया जा रहा था। मौके से आठ सिलेंडर सहित रीफिलिंग का सामान जब्त किया गया। गैस की कालाबाजारी करने के आरोपित लालडाठ निवासी राजेंद्र सिंह बिष्ट व प्लाट किराये पर देने वाले सह आरोपित आदेश के खिलाफ आवश्यक वस्तु अधिनियम की विभिन्न धाराओं में मुखानी थाने में मुकदमा दर्ज कराया गया है।

खाद्य विभाग को लंबे समय से कालाढूंगी मार्ग पर चलने वाले ऑटो में ब्लॉक कार्यालय के पास खाली प्लाट से गैस भरने की सूचना मिल रही थी। पूर्वाह्न 11 बजे विभाग की टीम मौके पर पहुंची। प्लाट में बनी झोपड़ी में एलपीजी सिलेंडर रखे गए थे। जिनसे ऑटो व छोटे सिलेंडरों में गैस भरी जा रही थी। मुखानी पुलिस ने ऑटो चालकों का चालान काटा। साथ ही मौके पर रीफिलिंग कर रहे आरोपित राजेंद्र सिंह को थाने लाया गया। आठ घरेलू सिलेंडर, दो फुट पंप और रीफिलिंग करने की दो पिन सहित अन्य सामान को खाद्य विभाग ने सीज कर दिया। डीएसओ तेजबल सिंह ने बताया कुछ समय से इस स्थान पर एलपीजी सिलेंडर से अवैध रीफिलिंग की सूचना मिल रही थी।आगे भी कार्रवाई जारी रहेगी। एलपीजी की चोरी बनी मजबूरी

जागरण संवाददाता, हल्द्वानी: घरेलू एलपीजी कनेक्शन उपभोक्ताओं के आधार कार्ड से लिंक होने के बावजूद एलपीजी सिलेंडरों से अवैध रीफिलिंग का कारोबार थमने का नाम नहीं ले रहा है। इसके पीछे ऑटो चालकों की मजबूरी यह है कि ऑटो में कंपनी से ही भले ही एलपीजी किट फिट होकर आ रही हो, लेकिन शहर में एक भी पेट्रोल पंप पर ऑटो एलपीजी की सुविधा उपलब्ध नहीं है। जिसका फायदा गैस माफिया उठा रहे हैं और चोरी-छिपे ऑटो के साथ ही घरेलू एलपीजी सिलेंडरों से खुले बाजार में बिकने वाले तीन किलो और पाच किलो के छोटे सिलेंडरों में गैस रीफिलिंग कर रहे हैं।