उत्तर प्रदेश देश राजनीती होम

सपा-बसपा गठबंधन से एनडीए को घबराने की जरूरत नहीं : ओमप्रकाश राजभर

दिव्यांग कल्याण मंत्री ओमप्रकाश राजभर

सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के प्रमुख और उत्तर प्रदेश सरकार में दिव्यांग कल्याण मंत्री ओमप्रकाश राजभर आजमगढ़ में महाराजा सुहेलदेव की मूर्ति अनावरण के लिए फूलपुर-पवई विधानसभा के कोरा घाटमपुर गांव पहुंचे। ओमप्रकाश राजभर ने यहां शनिवार को सपा-बसपा गठबंधन को लेकर कहा कि वो दिन दूर नहीं जब सपा-बसपा गठबंधन मुंह के बल गिरेगा।

उन्होंने कहा कि देश गठबंधन के दौर से गुजर रहा है। पिछली बार भाजपा की सरकार 38 दलों के गठबंधन से बनी थी। यह कोई नई चीज नहीं है। सपा और बसपा दोनों अपने में घोर विरोधी दल थे। उत्तर प्रदेश में दो बड़ी ताकतें मिली हैं। एनडीए को इससे घबराने की जरूरत नहीं हैं।

इसके अलावा ओमप्रकाश राजभर ने ये भी कहा कि ओबीसी आरक्षण में विभाजन को लेकर बीजेपी को दिया अल्टीमेटम पूरा होने के बाद वो यूपी की सभी सीटों पर उम्मीदवार उतारेंगे। ओमप्रकाश राजभर ने कहा कि 27 प्रतिशत आरक्षण में अगर विभाजन नहीं होगा तो 100 दिन का हमने भाजपा को अल्टीमेटम दिया है।

12 दिन बीत गए हैं और इसके बाद हम 80 सीटों पर अपने उम्मीदवार खड़े करेंगे। पूरब से लेकर पश्चिम तक और उत्तर से लेकर दक्षिण तक हम अपना काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी को मैं बार-बार समझा रहा हूं कि प्रदेश में 80 लोकसभा सीट हैं। हर सीट पर 5-6 लाख अकेले अति पिछड़ा वोटर हैं।यूपी का पिछड़ा वर्ग पिछड़ी जाति के लिए लागू 27 प्रतिशत आरक्षण में बंटवारा चाहता है। अति पिछड़ा सामाजिक न्याय कमिटी की जो रिपोर्ट आई है उसको लागू कराना हम चाहते हैं। बीजेपी सरकार उसको लागू कर दे तो लड़ाई ही नहीं रह जाएगी।

सवर्णों को दिया गए 10 प्रतिशत आरक्षण के बारे में कहा कि चुनाव के समय कोई भी सही फैसला होता है उसको चुनाव से जोड़ दिया जाता है। अगर फैसला पांच-छह महीने पहले हुआ होता तो इसको कोई चुनावी जुमला नहीं कहता। फैसला सही है।