देश राजनीती होम

पूर्व निदेशक ने CBI में गुटबाजी की ओर किया संकेत, कहा- नए चीफ को सुधारनी होगी छवि

पूर्व निदेशक ने CBI में गुटबाजी की ओर किया संकेत, कहा- नए चीफ को सुधारनी होगी छवि

प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में वाली विशेष कमेटी ने आलोक वर्मा को सीबीआई के डायरेक्टर पद से हटा दिया दिया है. इसके बाद सीबीआई के पूर्व निदेशक एपी सिंह ने एजेंसी में गुटबाज़ी की ओर संकेत करते हुए कहा कि इसकी वजह से संस्था को काफी नुकसान पहुंचा है और सीबीआई की छवि खराब हुई है. उन्होंने कहा कि लोगों में ऐसा संदेश जा रहा है कि सीबीआई में दो अलग गुट हैं जो कि आपस में लड़ रहे हैं.

सिंह ने आगे कहा कि ‘जो भी नया निदेशक बनेगा उसे एजेंसी की छवि को सुधारना होगा. सीबीआई में कई अधिकारी हैं जो काबिल हैं. इस पद के लिए जिसे भी चुना जाएगा वो अच्छा काम करेगा. वर्मा संभवतः ऐसे पहले अधिकारी हैं जिनके ऊपर इस तरह की कार्रवाई की गई है.’

बता दें कि सीवीसी की रिपोर्ट में वर्मा के ऊपर कई आरोप लगाए गए थे. जिसके आधार पर कमेटी ने उन्हें  पद से हटाया. हालांकि कांग्रेस ने इससे असहमति जताते हुए ट्वीट किया. आलोक वर्मा को बिना उनका पक्ष रखे हटाने से ये सिद्ध हो गया है कि पीएम मोदी जांच से बचना चाह रहे हैं.पूर्व सीबीआई निदेशक ने ये भी कहा कि, ‘इसका राफेल या चुनाव से लेना देना नही है. उन्होंने कहा कि अब हम यह कह सकते हैं कि पूरी प्रक्रिया को फॉलो किया गया है. कमेटी में चीफ जस्टिस को होना चाहिए था लेकिन वो नहीं थे तो उनके प्रतिनिधि वहां मौजूद थे.’