उत्तर प्रदेश देश राजनीती होम

लखनऊ पहुंचते ही मायावती ने बुलाई बड़ी बैठक, गठबंधन पर हो सकता है फैसला

मायावती

बसपा सुप्रीमो मायावती बृहस्पतिवार को लखनऊ पहुंच गई। 15 जनवरी को अपने जन्मदिन पर वह सपा-बसपा गठबंधन का एलान कर सकती है। उन्होंने 20 जनवरी को बसपा के पदाधिकारियों की बैठक बुलाई है। इसमें वह चुनावी रणनीति का खुलासा करेंगी। 22 जनवरी को वह भाईचारा कमेटी की बैठक में लोकसभा चुनाव को लेकर दिशा-निर्देश देंगी।

लोकसभा चुनाव को लेकर सपा और बसपा में गठबंधन को लेकर सहमति बन गई है। मायावती और अखिलेश के बीच दिल्ली में हुई लंबी बैठक में सीटों के बंटवारे को लेकर भी लगभग आम राय बन गई है। उनके बीच एक और बैठक होगी। इसके बाद तय हो जाएगा कि कौन का दल, किस सीट पर चुनाव लड़ेगा।

ऐसी संभावना है कि उनके बीच अगली मुलाकात लखनऊ में ही होगी। 15 जनवरी को मायावती के जन्मदिन पर अखिलेश यादव समेत कई प्रमुख नेता उन्हें बधाई देने जाएंगे। उस दिन प्रदेश में सपा-बसपा के बीच गठबंधन की औपचारिक घोषणा की जा सकती है।

यह भी हो सकता है कि एक-दो दिन बाद इसका एलान हो। दरअसल, मायावती लोकसभा सीटों का फाइनल बंटवारा हो जाने तक गठबंधन की विधिवत घोषणा नहीं करना चाहती हैं।

इस बीच मायावती ने 20 जनवरी को पार्टी के पदाधिकारियों, कोऑर्डिनेटर व अन्य प्रमुख नेताओं की बैठक बुलाई है। पहले यह बैठक 10 जनवरी को प्रस्तावित थी। 22 जनवरी को भाईचारा कमेटियों की बैठक प्रस्तावित है। ये बैठकें काफी अहम बताई जा रही हैं। इनमें बसपा के सभी प्रमुख नेता शामिल होंगे।

माना जा रहा है कि मायावती चुनावी रणनीति को लेकर उन्हें विस्तृत दिशा निर्देश देंगी। यह भी बता सकती हैं कि गठबंधन का स्वरूप क्या होगा, बसपा किन-किन सीटों पर चुनाव लड़ेगी। बृहस्पतिवार को राजधानी पहुंचने के बाद मायावती ने पार्टी के चुनिंदा नेताओं से राजनीतिक हालात पर चर्चा की। मायावती के लखनऊ पहुंचने के बाद बसपा कार्यालय पर खासी गहमागहमी नजर आई।