देश राजनीती होम

4 बड़े फैसले जिनकी PM मोदी ने किसी को भनक भी न लगने दी

पीएम मोदी अपने चौंकाने वाले फैसले के लिए जाने जाते हैं

साल 2014 में बीजेपी की भारी जीत और बीजेपी नेता नरेंद्र मोदी का प्रधानमंत्री बनना अपने आप में एक ऐतिहासिक घटना थी. इसके बाद पीएम मोदी ने कई ऐसे कदम भी उठाए जो ऐतिहासिक तो कहे ही जा सकते हैं, चौंकाने वाले भी हैं. पीएम मोदी के कई ऐसे कदमों ने देश ही नहीं, पूरी दुनिया को चौंका दिया. पिछले पांच साल के कार्यकाल में पीएम मोदी ने ऐसे कई फैसले लिए हैं जिनकी भनक न तो विपक्ष को लगी, न ही सत्तापक्ष के नेताओं, उनके किसी मंत्री या मीडिया को. सामान्य वर्ग के लिए 10 फीसदी का आरक्षण ऐसा ही एक चौंकाने वाला कदम है. आइए जानते हैं, पीएम मोदी के ऐसे ही चार बड़े कदमों के बारे में…

1. राफेल सौदा

सेना की जरूरत पूरा करने के लिए विमान सौदा करने का प्रयास यूपीए सरकार में ही शुरू हुआ था. साल 2012 में राफेल को एल-1 बिडर घोषित किया गया और इसके मैन्युफैक्चरर दसॉ ए‍विएशन के साथ कॉन्ट्रैक्ट पर बातचीत शुरू हुई. लेकिन यूपीए सरकार के दौरान इस पर समझौता नहीं हो पाया, क्योंकि खासकर टेक्नोलॉजी ट्रांसफर के मामले में दोनों पक्षों में गतिरोध बन गया था. साल 2014 में जब नरेंद्र मोदी सरकार बनी तो उसने इस दिशा में फिर से प्रयास शुरू किया. इस मामले में पीएम मोदी ने देश काे चौंका दिया. पीएम मोदी ने साल 2015 में फ्रांस यात्रा के दौरान यह घोषणा की कि राफेल डील पक्की हो गई है. उनकी इस यात्रा के दौरान ही भारत और फ्रांस के बीच इस विमान की खरीद को लेकर समझौता किया गया. इस समझौते में भारत ने जल्द से जल्द 36 राफेल फ्लाइ-अवे यानी उड़ान के लिए तैयार विमान हासिल करने की बात कही.

2. सर्जिकल स्ट्राइक

28-29 सितंबर 2016 की रात में भारतीय सेना ने पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में स्थि‍त आतंकवादी लांच पैड्स पर सर्जिकल स्ट्राइक कर दुनिया को चौंका दिया. 29 सितंबर को दिन में तत्कालीन डीजीएमओ लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह ने आनन-फानन में बुलाए गए संवाददाता सम्मेलन में की. उन्होंने कहा कि भारत ने नियंत्रण रेखा के पार स्थित आतंकी शिविरों पर सर्जिकल हमले किए जिनमें आतंकवादियों को भारी नुकसान पहुंचा है और अनेक आतंकवादी मारे गए हैं. रणबीर सिंह ने कैबिनेट की सुरक्षा मामलों की समिति की बैठक के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में ये जानकारी दी.

3. नोटबंदी

8 नवंबर, 2016 का ऐतिहासिक दिन देश में शायद ही किसी को भूला हो. इस तारीख को रात 8 बजे पीएम मोदी टीवी पर आए और अचानक उन्होंने घोषित कर दी कि उसी दिन रात बारह बजे से 500 और 1000 के नोट लीगल टेंडर नहीं रहेंगे, यानी उनका चलन बंद हो जाएगा. उनकी इस घोषणा से पूरा देश सन्न रह गया. मीडिया या अन्य किसी की बात छोड़िए केंद्रीय मंत्रिमंडल के कई वरिष्ठ सदस्यों को भी इस बात का एहसास नहीं था कि पीएम मोदी क्या घोषणा करने वाले हैं.

कई खबरों में यह कहा गया कि इसकी योजना छह महीने पहले बननी शुरू हुई थी और सरकार के कुछ आला लोगों को ही इसकी जानकारी थी. लेकिन सच तो यह है कि इसके बारे में कहीं भी किसी को भनक तक नहीं लगी.

4. सामान्य वर्ग आरक्षण

मोदी सरकार का देश का सबसे हालिया चौंकाने वाला कदम है सामान्य वर्ग को मिला आरक्षण. सरकार ने इसी सोमवार यानी 7 जनवरी को बड़ा फैसला करते हुए सामान्य वर्ग के गरीब लोगों के लिए सरकारी नौकरियों और शिक्षण संस्थानों में दस फीसदी आरक्षण देने का फैसला किया. सामान्य वर्ग के आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को आरक्षण देने के ऐतिहासिक संविधान संशोधन विधेयक को बुधवार यानी 9 जनवरी को संसद की मंजूरी मिल गई. अब इस पर राष्ट्रपति के हस्ताक्षर का इंतजार है. इस कदम से भी पीएम मोदी ने देश का चौंका दिया.