देश राजनीती होम

दिग्विजय सिंह का सनसनीखेज आरोप, मध्य प्रदेश सरकार गिराने के लिए बीजेपी ने विधायक को 100 करोड़ का ऑफर दिया

दिग्विजय सिंह का सनसनीखेज आरोप, मध्य प्रदेश सरकार गिराने के लिए बीजेपी ने विधायक को 100 करोड़ का ऑफर दिया

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने सनसनीखेज दावा किया है. उन्होंने कहा है कि बीजेपी मध्य प्रदेश की कांग्रेस सरकार को गिराने का प्रयास कर रही है. दिग्विजय सिंह ने भारतीय जनता पार्टी पर कमलनाथ सरकारगिराने के लिए विधायक को 100 करोड़ रुपये का प्रलोभन देने का भी आरोप लगाया है. उन्होंने कहा कि भाजपा को विपक्ष में बैठना पच नहीं रहा है, लिहाजा वह विधायकों की खरीद-फरोख्त कर रही है. राज्य के पूर्व मंत्री नरोत्तम मिश्रा, विश्वास सारंग द्वारा विधायक बैजनाथ कुशवाहा को शहर से 10 किलोमीटर दूर ले जाकर 100 करोड़ रुपये का लालच और मंत्री पद का प्रलोभन दिया, ताकि सरकार गिराई जा सके.  दिग्विजय सिंह ने कहा कि भाजपा सत्ता हासिल करने के लिए विधायकों की खरीद-फरोख्त में लगी है. विधायकों को 100 करोड़ रुपये तक का ऑफर दिया गया है. उन्होंने भाजपा के विधायकों पर दूसरे विधायक को ढाबे पर चर्चा के लिए ले जाने का आरोप भी लगाया है. दिग्विजय सिंह ने कहा कि समय आएगा तो वे इस मामले में सबूतों को सामने भी लाएंगे. आपको बता दें कि दिग्विजय सिंह के इस आरोप के बाद भाजपा भी आक्रामक हो गई है. पूर्व मंत्री विश्वास सारंग व विधायक नारायण त्रिपाठी ने आरोपों को नकारते हुए कहा कि सिंह अगर आरोप साबित कर देंगे तो वे राजनीति ही छोड़ देंगे. आपको बता दें कि आज ही मध्य प्रदेश से एक और खबर सामने आई थी. पथरिया से बसपा विधायक (BSP MLA) रामबाई ने कमलनाथ सरकार (Kamal Nath Govt) को अल्टीमेटम दे दिया है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने उनसे मंत्री बनाने का वादा किया है, वह 20 जनवरी तक इंतजार करेंगी. जब उनसे पूछा गया कि क्या ये सरकार के लिए खतरे की चेतावनी है तो उन्होंने कहा कि कांग्रेस भी जानती है कि उनकी सरकार अगले 5 सालों तक ऐसे ही चलेगी. वहीं दूसरी ओर जयस से कांग्रेस विधायक डॉ. हीरालाल अलावा ने भी नाराजगी जताई है. उन्होंने कहा कि युवाओं में निराशा है, उम्मीद है अगले विस्तार में भागीदारी मिलेगी. मैंने अपनी बात शीर्ष नेतृत्व तक रख दी है. बता दें, राज्य विधानसभा के 230 सदस्यों में 114 कांग्रेस और 109 भाजपा के हैं. वहीं कांग्रेस को बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के दो, समाजवादी पार्टी (सपा) के एक और चार निर्दलीय का समर्थन हासिल है. इसी के चलते कांग्रेस ने सरकार बनाई है. (इनपुट- IANS)