उत्तर प्रदेश देश होम

‘अनजान मर्दों को भेजकर मां-बहन की फोटो खिंचवाऊं’, पढ़ें दबंग IAS चंद्रकला के चर्चित बयान

‘अनजान मर्दों को भेजकर मां-बहन की फोटो खिंचवाऊं’, पढ़ें दबंग IAS चंद्रकला के चर्चित बयान

यूपी की दबंग IAS अधिकारी बी. चंद्रकला अक्सर अपने सख्त तेवर, मातहत अधिकारियों को सरेआम फटकारने और बयानों को लेकर चर्चा में रहती हैं। गलत काम करने पर ठेकेदारों व अधिकारियों को जेल भिजवाने की धमकी तो वह कई बार दे चुकी हैं। बी. चंद्रकला यूपी के कई जिलों में डीएम रह चुकी हैं।बुलंदशहर की डीएम रहते हुए बी चंद्रकला ने सबसे ज्यादा सुर्खियां बटोरीं थीं। अपने दबंग तेवरों और बयानों की वजह से उन्हें लेडी सिंघम भी कहा जाने लगा था। कई बार उनके बयान विवाद की वजह भी बन चुके हैं। एक बार फिर वह चर्चा में हैं, लेकिन इस बार वजह उनके आवास पर पड़ा सीबीआई छापा है। आइये जानते हैं, पूर्व में चर्चा में रहे आइएएस अधिकारी बी. चंद्रकला के कुछ बयान।आइएएस अधिकारी बी. चंद्रकला 2016 में बुलंदशहर की डीएम थीं। उस वक्त उन्होंने 18 साल के एक लड़के को इसलिए जेल भिजवा दिया था क्योंकि उसने बिना उनसे पूछे या अनुमति लिए उनके साथ फोटो क्लिक कर ली थी। उनके ये फैसला तुरंत मीडिया की सुर्खियां बन गया। इसी खबर पर चंद्रकला का बयान लेने के लिए एक रिपोर्टर ने जब फोन किया तो, उन्होंने ऐसा रिएक्शन दिया था, पत्रकार ने जिसकी कल्पना भी नहीं की थी। बी. चंद्रकला ने धमकी भरे लहजे में पत्रकार से कहा कि उसके घर अनजान मर्दों को भेजकर मां-बहन या उसकी मिसेज की फोटो खिंचवाऊं। अगर तुम्हारी मां-बहन के साथ कोई अनजान मर्द फोटो खिंचवाएगा तो क्या खींचने दोगे? हालांकि बयान वायरल होने पर डीएम साहिबा ने इस बातचीत को गलत बताया था।बुलंदशहर में डीएम रहते हुए बी. चंद्रकला शहर में विकास कार्यों का जायजा ले रहीं थीं। इस दौरान उन्होंने एक जगह सड़क किनारे बिछाई जा रही टाइल्स का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उन्हें काम की गुणवत्ता सही नहीं मिली। इस पर सड़क पर ही उन्होंने नगरपालिका चेयरमैन और वहां मौजूद अफसरों को जनता और मीडिया के सामने जमकर लताड़ लगाई। उन्होंने अधिकारियों को धमकाते हुए कहा ‘ऐसी टाइल्स लगवा रहे हो। तुम्हारी तनख्वाह से लूंगी पूरा पैसा। शर्म करो शर्म… जनता का पैसा है ये’। अफसरों को हड़काते हुए उनका ये वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुआ था।17 दिसंबर 2014 को भी बुलंदशहर डीएम रहते हुए बी. चंद्रकला विकास कार्यों का निरीक्षण कर रहीं थीं। इस दौरान भी उन्हें एक जगह पर चल रहे विकास कार्य में कमी मिली थी। उस वक्त भी उन्होंने मौके पर मौजूद अधिकारियों को लापरवाही बरतने पर सरेआम जमकर फटकार लगी थी। उन्होंने सार्वजनिक तौर पर अधिकारियों को चेतावनी दी थी ‘जेल के अंदर जाओगे, अभी के अभी, समझे क्या’। उनका ये बयान भी मीडिया की सुर्खियां बना था।बुलंदशहर की डीएम रहते हुए 12 दिसंबर 2014 को बी. चंद्रकला ने खिलाड़ियों की शिकायत पर स्टेडियम का निरीक्षण किया था। यहां उन्हें काफी गंदगी मिली थी। इस पर उन्होंने स्टेडियम की बदहाली के लिए जिम्मेदार खेल विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों को कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया था। इतना ही नहीं निरीक्षण के दौरान उन्होंने सार्वजनिक तौर पर अधिकारियों से कहा था ‘बच्चों के पास मेरा नंबर है। कुछ भी गलत हुआ तो जेल तो जरूर जाओगे’।वर्ष 2015 में बुलंदशहर की ही डीएम रहते हुए चंद्रकला शहर में सरकारी विकास कार्यों का निरीक्षण कर रहीं थीं। इस दौरान उन्होंने एक जगह पर बन रही नाली का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्हें नाली में लगाई जा रही ईंटों की गुणवत्ता सही नहीं लगी। बस फिर क्या था, डीएम साहिबा ने एक बार फिर मौके पर मौजूद मातहत अधिकारियों की क्लास लगा दी। उन्होंने अधिकारियों से कहा ‘ये काम हो रहा है। (अधिकारी ने बोलने का प्रयास किया तो) चुप… सब तुम लोगों की गलती है।’बुलंदशहर में लंबे कार्यकाल के बाद वर्ष 2016 में ही IAS अधिकारी बी चंद्रकला का ट्रांसफर मेरठ में बतौर डीएम हो गया। पांच जून 2016 को उन्होंने मेरठ में भी बुलंदशहर के अंदाज में एक सरकारी स्कूल का निरीक्षण किया। इस दौरान वह एक क्लास में गईं और बच्चों से उनके विषय से संबंधित कुछ सवाल पूछे। बच्चे उनके सवालों का जवाब नहीं दे सके। इस पर डीएम ने टीचर की बच्चों के सामने ही क्लास लगा दी। उन्होंने उस टीचर से कहा था ‘बच्चों को धोखा क्यों दे रहे हो। इन्हें खाना न दो, कपड़ा न दो, लेकिन अच्छी शिक्षा तो दो’। टीचर ने जब कुछ बताने का प्रयास किया तो डीएम ने उसे डांटते हुए बोला ‘समस्या सिर्फ वही लोग बताते हैं, जो कुछ करना नहीं चाहते’।