उत्तर प्रदेश देश होम

गाजीपुर: PM की रैली से लौट रहे पुलिसवालों पर पथराव, 9 गिरफ्तार

गाजीपुर में पथराव के चलते कांस्टेबल की मौत (फोटो- ANI)

उत्तर प्रदेश के गाजीपुर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यक्रम से वापस जा रहे पुलिसकर्मियों पर पथराव में एक कांस्टेबल की मौत हो गई. पथराव का आरोप निषाद पार्टी के कार्यकर्ताओं पर लगाया जा रहा है.

गाजीपुर के ननोहारा पुलिस थाने में कई लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है. अब तक 9 लोगों की गिरफ्तारी हुई है जबकि कुछ लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है. मृतक कॉन्स्टेबल के परिजन प्रतापगढ़ से गाजीपुर पहुंच गए हैं. 8 बजे पोस्टपार्टम किया जाना है. जिले के आला पुलिस अधिकारी दिन में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर घटना का पूरा ब्योरा देंगे. अब तक 32 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है जिनमें ज्यादातर निषाद पार्टी के कार्यकर्ता हैं.

निषाद समाज के लोग आरक्षण की मांग को लेकर आज जनपद में कई जगहों पर धरना प्रदर्शन कर रहे थे. वहीं पुलिस प्रधानमंत्री के कार्यक्रम को देखते हुए इनके कुछ नेताओं को पहले से ही गिरफ्तार कर ली थी. पथराव की ये घटना नोनहरा थाने के कठवा मोड़ चौकी के पास हुई है.करीमुद्दीनपुर थाने की पुलिस प्रदर्शनकारियों को समझाने गई थी लेकिन यह लोग समझने के बजाय पुलिसकर्मियों पर ईंट पत्थरों से हमला कर दिया जिसकी जद में आकर तीन चार पुलिसकर्मी घायल हो गए. जिला अस्पताल ले जाते वक्त सुरेश वत्स की मौत हो गई.

इस घटना में मारे गए सुरेश वत्स की पत्नी के लिए सीएम योगी आदित्यनाथ ने 40 लाख के मुआवजे का ऐलान किया है. वहीं पत्नी को असाधारण पेंशन और माता-पिता को सरकार 10 लाख रुपये देगी. सीएम योगी ने परिवार के सदस्य को सरकारी नौकरी का भी ऐलान किया है.इसके अलावा सीएम योगी ने डीएम और एसएसपी को असामाजिक तत्वों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने और तुरंत गिरफ्तारी का निर्देश दिया है.

निषाद पार्टी के छत्रपति निषाद ने कहा कि हम निषाद समाज के लिए आरक्षण की मांग कर रहे हैं और हम इसका संदेश लोगों के बीच फैला रहे हैं. हम प्रयागराज से मार्च शुरू कर रहे हैं जो पूरे राज्य में चलेगा. 4 साल हो गए हैं, पीएम और सीएम दोनों ने निषादों की मांग पूरी नहीं की.