देश राजनीती होम

‘द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ पर संकट के बादल, मध्‍य प्रदेश में नहीं होगी रिलीज

'द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर' पर संकट के बादल, मध्‍य प्रदेश में नहीं होगी रिलीज

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के राजनीतिक जीवन पर आधारित फिल्म ‘द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ (The Accidental Prime Minister) की रिलीज पर मध्‍य प्रदेश में प्रतिबंध लगा दिया गया है। सरकार ने फिल्म के कंटेंट पर आपत्ति जताते हुए ये फैसला किया है। मध्‍य प्रदेश में हाल ही में कांग्रेस ने सत्‍ता संभाली है। 2019 लोकसभा चुनाव से पहले ‘द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ रिलीज हो रही है। ऐसे में फिल्‍म की टाइमिंग को लेकर भी सवाल उठ रहे हैं। 11 जनवरी को रिलीज हो रही है।

छत्‍तीसगढ़, राजस्‍थान, पंजाब, पुडुचेरी और कर्नाटक में भी कांग्रेस की सरकार है। सवाल ये उठता है कि मध्‍य प्रदेश के बाद अब क्‍या ‘द एक्सिडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ इन राज्‍यों में भी रिलीज होगी या प्रतिबंध की मार झेलेगी।फिल्म ‘द एक्सिडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ के ट्रेलर के बाद मचे बवाल पर मध्य प्रदेश कांग्रेस के नेता सईद जफर ने कहा, ‘मैंने फिल्‍म के डायरेक्टर को पत्र लिखा है। हम ट्रेलर में दिखाए गए कंटेंट और नाम पर कड़ी आपत्ति जताते हैं। हम फिल्म को रिलीज होने से पहले देखना चाहते हैं, नहीं तो फिर इसे राज्य में रिलीज नहीं होने देंगे।’

फिल्म ‘द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ के ट्रेलर रिलीज होने के साथ ही इस पर राजनीति शुरू हो गई है। भारतीय जनता पार्टी ने अपने ट्विटर हैंडल पर फिल्‍म का ट्रेलर शेयर कर कांग्रेस पर हमला किया। उधर, कांग्रेस भी अब मैदान में उतर आई है। कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता पीएल पूनिया ने इसे ध्‍यान बांटने की तरकीब बताया है। कांग्रेस सांसद पीएल पूनिया ने फिल्म ‘द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ के ट्रेलर को भाजपा के ट्विटर हैंडल से ट्वीट किए जाने के सवाल पर कहा, ‘यह भारतीय जनता पार्टी का खेल है। भाजपा जानती हैं कि उनके कार्यकाल के पांच साल खत्म होने को हैं और जनता को दिखाने के लिए उनके पास कुछ नहीं है, इसलिए वे ध्यान बंटाने के लिए ऐसी तरकीब अपना रहे हैं। लेकिन कुछ हल होने वाला नहीं है।’

‘द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ में मनमोहन सिंह का किरदार निभा रहे अनुपम खेर का कहना है कि फिल्‍म का विरोध करने का कोई मतलब नहीं है। उन्‍होंने कहा, ‘देखिए, ‘द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ का जितना विरोध होगा, उतनी ही फिल्‍म को पब्लिसिटी मिलेगी। फिल्‍म की कहानी जिस किताब पर आधारित है, वो 2014 में आई थी। तब कोई विरोध क्‍यों नहीं किया गया।’

भाजपा ने ‘द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ का ट्रेलर ट्वीट कर लिखा, ‘इस फिल्‍म की कहानी बताती है कि कैसे एक परिवार ने दस सालों तक देश को बंधक बनाकर रखा था। क्या डॉक्‍टर मनमोहन सिंह सिर्फ इसलिए तब तक प्रधानमंत्री की कुर्सी पर बैठे थे, जब तक उनका राजनीतिक उतराधिकारी तैयार न हो जाए? देखें इनसाइडर्स अकाउंट पर आधारित द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर का ट्रेलर, जो 11 जनवरी को रिलीज हो रही है।’

इधर, कांग्रेस स्थापना दिवस के मौके पर पार्टी मुख्यालय पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह ने केक काटा। यहां जब मनमोहन सिंह से ‘द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ के ट्रेलर पर टिप्‍पणी मांगी गई, तब उन्‍होंने कुछ भी कहने से इनकार कर दिया। एक बार फिर मौन रहकर उन्‍होंने बहुत कुछ कह दिया। 2019 लोकसभा चुनाव से पहले ‘द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ रिलीज हो रही है। ऐसे में फिल्‍म की टाइमिंग को लेकर भी सवाल उठ रहे हैं।