देश राजनीती होम

एनडीए का फॉर्मूला तय; 17-17 सीटों पर भाजपा-जदयू, 6 पर लोजपा लड़ेगी लोकसभा चुनाव

बाएं से दाएं- चिराग पासवान, रामविलास पासवान, अमित शाह, नीतीश कुमार और बिहार भाजपा प्रभारी भूपेंद्र यादव।

बिहार में लोकसभा चुनाव की सीटों के बंटवारे को लेकर एनडीए में सहमति बन गई है। राज्य में भाजपा और जदयू 17-17 सीटों पर और रामविलास पासवान की लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) छह सीटों पर उम्मीदवार उतारेगी। इसके साथ ही केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान को राज्यसभा भेजा जाएगा। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने दिल्ली स्थित अपने आवास पर रविवार को बिहार एनडीए के नेताओं के साथ की गई संयुक्त प्रेस कांफ्रेस में यह ऐलान किया। अमित शाह ने कहा, ‘‘गठबंधन ने हर सीट की राजनैतिक स्थिति और जमीनी हकीकत को देखते हुए सीटों का बंटवारा किया है। तीनों दल लोकसभा चुनाव में जीत के लिए प्रतिबद्ध हैं। आने वाले दिनों में यह भी तय कर लिया जाएगा कि कौन सी सीट पर किस पार्टी का प्रत्याशी मैदान में उतरेगा। बिहार में सरकार पर भी रामविलास पासवान, चिराग (रामविलास पासवान के बेटे) और सुशील मोदी चर्चा करेंगे। साथ ही 2019 का एनडीए का राजनैतिक एजेंडा घोषित होगा।’’

मुख्यमंत्री नीतीश ने कहा, ‘‘बिहार में सीटों के बंटवारे की घोषणा कर दी गई है। अब कुछ बोलने की आवश्यकता नहीं है। हम लोग आपस में बैठकर सीट डिसाइड कर लेंगे। बिहार में 2009 की तरह प्रदर्शन दोहराने की कोशिश की जाएगी। 2014 से ज्यादा सीट्स जीतेंगे। पासवान की प्रतिष्ठा रखने के लिए भाजपा को बधाई।’’ 2009 में भाजपा-जेडीयू गठबंधन 40 में से 32 सीटें जीता था। प्रेस कॉन्फ्रेंस के आखिरी में रामविलास पासवान ने सीट बंटवारे पर शाह, नीतीश कुमार और अरुण जेटली को धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा, ‘‘इस बार मिलकर और अच्छा प्रदर्शन करेंगे। मैंने पहले ही बोला था कि जो भी समझौता हो, सम्मानजनक ढंग से हो। एनडीए गठबंधन बिहार में और मजबूत किया जाएगा।’

बिहार की लोकसभा की सीटों के बंटवारे को लेकर पिछले चार दिन से दिल्ली में माथापच्ची चल रही है। शुक्रवार को जेटली और रामविलास पासवान के बीच मुलाकात हुई थी। इससे पहले गुरुवार को रामविलास और चिराग शाह से मिले थे।