उत्तर प्रदेश देश होम

सोते मिले कर्मचारी, कैश रूम में पान की पीक देख भड़के परिवहन मंत्री

सोते मिले कर्मचारी, कैश रूम में पान की पीक देख भड़के परिवहन मंत्री

बुधवार की देर रात परिवहन मंत्री स्वतंत्रदेव सिंह अचानक नए बने आलमबाग बस टर्मिनल पहुंच गए। गंदगी, टूटे शीशे की बस, डयूटी पर सोते हुए कर्मचारी को देख वह भड़क उठे। कर्मचारी को ड़यूटी से हटाने के अलावा कैशियर रूम में पान की पीक देख उन्होंने कर्मचारियों पर 1000 रुपये का जुर्माना वसूलने के निर्देश दिए। परिवहन मंत्री ने जौनपुर डिपो की बस संख्या यूपी62/एटी 6099 को देखा। तो उसमें पिछले दो शीशे नहीं थे। उन्होंने कंडक्टर को फटकार लगाते हुए साथ चल रहे अपने निजी सचिव से तकनीकी सेवा के अधिकारी को तलब करने को कहा।परिवहन मंत्री ने दिल्ली से गोरखपुर जाने वाली बस को आलमबाग टर्मिनल पर खड़ा देख सवाल किया। पता चला कि  एआरएम राप्तीनगर की ओर से बस को लखनऊ से ऑनलाइन नहीं कराया गया है। नाराजगी भरे लहजे में उन्होंने पीएस की तरफ देखा और लिखापढ़ी के निर्देश दिए।उसके बाद परिवहन मंत्री ने कैशियर रूम को देखा। पान की पीक देख उन्होंने जब डयूटी पर तैनात कर्मचारियों से पूछा तो कर्मचारियों ने परिचालकों पर तोहमत मढ़ दी। उन्होंने कहा कि जब कैश जमा करने के लिए बाहर काउंटर बना हुआ है तो परिचालक कैसे रूम में दाखिल हुए, सवाल पर वह चुप रह गए। फटकारते हुए उन्होंने 1000 रुपये का जुर्माना  के निर्देश दिए।इसके बाद परिवहन मंत्री इटीएम रूम में दाखिल हुए। मौजूद कर्मचारियों से उन्होंने पूछा कि कितने कर्मचारियों की यहां पर डयूटी है। कर्मचारियों ने चार की डयूटी बताई। उन्होंने पूछा एक कर्मी कहां है। कर्मचारियों ने बताया चाय पीने गया है। मंत्री ने फोन लगाने को कहा। फोन लगाते ही बगल के कमरे से सो रहा कर्मचारी आलोक शर्मा उनींदी अवस्था में बाहर निकला। यह देख मंत्री का भड़क उठे। उन्होंने तत्काल डयूटी पर तैनात कर्मचारी को कार्यालय डयूटी से हटा रूट पर भेजने को कहा।देर रात परिवहन मंत्री जब मुआयने के लिए निकले तो रास्ते में उन्हे ओवरलोड ट्रक मिले। परिवहन मंत्री ने चेकिंग दस्ते के अधिकारियों को फोन लगाया। पीटीओ आशुतोष उपाध्याय ने पीजीआई, मडिय़ांव और मटियारी चौकी में दस वाहनों को बंद किया गया और 16 का चालान किया।