उत्तराखंड देश होम

उत्तराखंड: ऑल वेदर रोड निर्माण के दौरान चट्टान टूटने से मलबे में दबे 16 मजदूर, 7 के शव बरामद

मलबे में दबे मजदूर

शुक्रवार को उत्तराखंड में दर्दनाक हादसा हो गया। रुद्रप्रयाग-गौरीकुंड हाइवे पर बांसवाड़ा में चट्टान टूटने से कई मजदूर मलबे में दब गए। हादसे में अभी तक सात मजदूरों की मौत हो चुकी है जबकि तीन गंभीर घायल हैं।

बताया जा रहा है कि वहां ऑल वेदर रोड का काम चल रहा था। इस दौरान चट्टान टूटकर गिर गई। जिसके चलते जेसीबी भी नदी में जा गिरी।  हादसे में 16 से ज्यादा मजदूर मलबे में दबे हुए हैं।

सूचना मिलते ही रेस्क्यू टीम और पुलिस मौके पर पहुंच गई है। इस दौरान सात मजदूरों के शव बरामद कर लिए गए हैं। घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

पत्थर छिटकर मकान में जा घुसा

बता दें कि हाल ही में बदरीनाथ हाईवे पर भी बजपुर गांव के समीप ऑलवेदर रोड परियोजना कार्य के दौरान एक बोल्डर छिटककर एक आवासीय मकान के अंदर घुस गया था। गनीमत यह रही कि भवन स्वामी कनक सिंह रावत और उनकी पत्नी अपने बेटे से मिलने बागेश्वर गए हुए थे, जिससे बड़ा हादसा होने से टल गया।

उस वक्त भी चट्टानी भाग में जेसीबी की मदद से बोल्डरों को तोड़ने का काम चल रहा था। इसी दौरान अचानक एक बोल्डर छिटक कर बाजपुर गांव में कनक सिंह रावत के मकान की दीवार को तोड़कर कमरे में जा घुसा।