होम

12 साल बाद लाहौर में भी मनाया जाएगा वसंतोत्सव

12 साल बाद लाहौर में भी मनाया जाएगा वसंतोत्सव, प्रतिबंध हटाया

पाकिस्तान के पंजाब प्रांत की सरकार ने मंगलवार को वसंतोत्सव के आयोजन पर पिछले 12 वर्षों से लगा प्रतिबंध हटा लिया। यह त्योहार वसंत के मौसम की शुरुआत में पंजाबी समुदाय द्वारा मनाया जाता है। पाकिस्तानी समाचार पत्र डॉन की खबर के मुताबिक, पंजाब के सूचना एवं संस्कृति मंत्री फैयाजुल हसन ने कहा कि यह परंपरागत उत्सव फरवरी 2019 के दूसरे सप्ताह में मनाया जाएगा।

एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए हसन ने कहा कि एक समिति गठित की जाएगी, जिसमें पंजाब के कानून मंत्री, प्रांतीय मुख्य सचिव और दूसरे प्रशासनिक अधिकारी शामिल होंगे। समिति इस पर चर्चा करेगी कि कैसे इस त्योहार के नकारात्मक पहलुओं से बचा जाए। समिति एक हफ्ते में रिपोर्ट देगी। उन्होंने कहा, ‘इस बार लाहौर के लोग निश्चित रूप से वसंत मनाएंगे।’

पंजाब में 2007 में वसंतोत्सव पर यह कहते हुए पाबंदी लगा दी गई थी कि पतंग उड़ाने के लिए इस्तेमाल होने वाले मांझे से मौतें होती हैं। हालांकि, कई विश्लेषकों का मानना है कि इस त्योहार पर कट्टरपंथी धार्मिक और जमात-उद-दावा जैसे आतंकी समूहों के दबाव में पाबंदी लगाई गई थी। इनका दावा है कि यह त्योहार मूलत: हिंदुओं का है और गैरइस्लामी है।

मंत्री ने कहा, सुप्रीम कोर्ट ने साफ किया है कि वसंतोत्सव के मनाने पर किसी प्रकार का प्रतिबंध नहीं है। हालांकि, इसका आयोजन कानून के दायरे में होना चाहिए। सरकार के आदेशों का अनुपालन होना चाहिए।