उत्तर प्रदेश देश होम

एलयू में छात्र दूसरे छात्र पर किया रिवाल्वर से फायर

एलयू में छात्र दूसरे छात्र पर किया रिवाल्वर से फायर, दोनों पक्षों में जमकर हुई मारपीट

LUCKNOW : लखनऊ यूनिवर्सिटी (एलयू)) कैंपस में अराजकता थमने का नाम नहीं ले रही. सोमवार को एक दबंग छात्र ने वर्चस्व को लेकर कैंपस के भीतर ही रिवॉल्वर से ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी. दिनदहाड़े हुई फायरिंग से कैंपस में हड़कंप मच गया. हैरानी की बात यह है कि जिस वक्त यह घटना हुई एलयू कैंपस में कैबिनेट मंत्री, डीएम व पुलिस के तमाम पुलिस अधिकारी युवा कुंभ की तैयारियों को लेकर बैठक कर रहे थे. फायरिंग व बवाल की सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने आरोपी छात्र को अरेस्ट कर लिया. उसके कब्जे से पुलिस ने रिवॉल्वर बरामद कर ली. बताया गया कि बरामद रिवॉल्वर छात्र के दारोगा पिता की है.सोमवार दोपहर करीब 1.30 बजे सचिन प्रताप सिंह अपने साथी छात्रों के साथ साइंस कैंटीन में बैठा था. तभी बीए सेकेंड इयर का छात्र हर्ष यादव अपने साथी नवनीत के साथ वहां आ पहुंचा. अभी सचिन कुछ समझ पाता इससे पहले ही हर्ष ने रिवॉल्वर की बट से सचिन के सिर पर वार कर दिया. अचानक हुए हमले से वहां बैठे छात्र सकते में आ गए और वहां से भाग खड़े हुए. सचिन के साथ बैठे छात्राओं व छात्रों ने इसकी जानकारी दूसरे छात्रों को दी. सचिन पर हमले की सूचना मिलते ही उसके अन्य साथी भी आनन-फानन साइंस कैंटीन पहुंच गए और हर्ष व उसके साथी पर पथराव शुरू कर दिया.प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक, पथराव होते ही हर्ष व नवनीत रिवॉल्वर हवा में लहराते हुए वहां से केमिस्ट्रिी डिपार्टमेंट गेट नंबर 4 की ओर भागने लगे. सचिन व उसके साथियों ने उनका पीछा शुरू कर दिया. इस दौरान नवनीत तो वहां से भाग निकला लेकिन, हर्ष को सचिन व उसके साथियों ने घेर लिया. खुद को घिरता देख हर्ष ने सचिन की ओर रिवॉल्वर तान दी और गोली मारने की धमकी दी. जब सचिन पीछे नहीं हटा तो हर्ष ने हवाई फायरिंग शुरू कर दी. जिससे कैंपस में दहशत फैल गई. इसके बाद हर्ष वहां से भागने लगा तभी गेट नंबर चार की तरफ से कुछ छात्रों ने हर्ष पर दोबारा पथराव शुरू कर दिया. उसने बचाव में फिर से हवाई फायरिंग की लेकिन, छात्रों ने उसे दौड़ाकर दबोच लिया. इसके बाद छात्रों ने हर्ष को पकड़कर पिटाई कर दी.यह नजारा देख रहे छात्रों ने पुलिस को घटना की सूचना दी. जानकारी मिलने पर पहुंची पुलिस ने हर्ष को छात्रों के चंगुल से छुड़ाया और उसके पास मौजूद रिवॉल्वर को कब्जे में ले लिया. पुलिस गिरफ्त में आने के बाद हर्ष ने बताया कि चार दिन पहले सचिन ने अपने तीन दर्जन साथियों के साथ उसके साइंस कैंटीन में अकेला पाकर पीटा था. साथ ही उसे कैंपस में न आने की ताकीद की थी. उसने बताया कि इसी का बदला लेने के लिये वह बीते चार दिनों से रिवॉल्वर लेकर सचिन को पूरे कैंपस में तलाश रहा था और आज वह साइंस कैंटीन में बैठा मिल गया.

एसपी ट्रांसगोमती हरेंद्र कुमार ने बताया कि आरोपी छात्र हर्ष यादव के कब्जे से जो रिवॉल्वर बरामद हुई है उसका लाइसेंस उसके पिता पप्पू यादव के नाम पर है. उन्होंने बताया कि पप्पू यादव पुलिस विभाग में दारोगा हैं और वर्तमान में मुरादाबाद पुलिस ट्रेनिंग सेंटर में तैनात हैं. एसपी के मुताबिक, हर्ष ने बताया है कि चार दिन पहले उसके संग हुई मारपीट की शिकायत उसने प्रॉक्टर ऑफिस में की थी. पर, कोई कार्रवाई नहीं हुई. जिसके बाद उसने सचिन की हत्या का प्लान बनाया था.

आरोपी छात्र हर्ष यादव के खिलाफ जानलेवा हमला व आ‌र्म्स एक्ट के तहत एफआईआर दर्ज कर जेल भेज दिया गया है. एलयू कैंपस में सुरक्षा बढ़ा दी गई है.