उत्तर प्रदेश देश राजनीती होम

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा- अपनी जिम्मेदारी वहन करे प्रादेशिक विकास सेवा संगठन

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा- अपनी जिम्मेदारी वहन करे प्रादेशिक विकास सेवा संगठन

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रादेशिक विकास सेवा संगठन को गांव के विकास पर अधिक ध्यान देने की सलाह दी है। यहां इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में सीएम योगी आदित्यनाथ ने प्रादेशिक विकास सेवा संगठन के वार्षिक अधिवेशन का उद्घाटन किया। इस अवसर पर ग्राम्य विकास राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार, डॉ. महेद्र सिंह भी मौजूद थे।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रादेशिक विकास सेवा संगठन काफी शक्तिशाली संगठन है। इसको हर जगह अपनी भूमिका में खरा उतरना होगा। उन्होंने कहा कि समाज में व्यापक परिवर्तन लाने के लिए अतिरिक्त परिश्रम करने की आवश्यकता पड़ती है। अतरिक्त परिश्रम जरूरी भी है क्योंकि मुझे लगता है कि जितना अधिक परिश्रम करेंगे उतनी कम बीमारियों से ग्रसित होंगे।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हमने कई योजनाएं महिलाओं को स्वावलंबन की ओर अग्रसर करने के लिए प्रारम्भ की हैं लेकिन इन योजनाओं की कामयाबी के लिए प्रेरक आपको ही बनना होगा। ग्रामीण क्षेत्र में आम जन के जीवन स्तर को ऊपर उठाने और उनके जीवन में खुशहाली ला कर प्रदेश को समृद्धि की ओर अग्रसर करने में प्रादेशिक विकास सेवा संगठन की बड़ी भूमिका हो सकती है। उन्होंने अफसरों को नसीहत दी कि वह आम जनता के लिए बल बनें, बला नहीं। उन्होंने कहा बुरे व्यक्ति के जाने के बाद लोग कहते हैं कि चलो बला टली, लेकिन जब अच्छा व्यक्ति जाता है तो लोग उसके यश को याद करते हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि इस मंच पर विभाग के उन अफसरों के कार्यों का प्रजेंटेशन भी होना चाहिए जो अपने जिले या ब्लॉक में विशिष्ट या अनूठे ढंग से काम कर रहे हों। इससे विभाग के दूसरे अफसर भी अच्छा काम करने को प्रेरित होंगे। उन्होंने कहा कि किसी संगठन का पदाधिकारी बनने का केवल यही लक्ष्य नहीं होना चाहिए कि वह ट्रांसफर-पोस्टिंग से मुक्त हो जाए।

उसे संगठन के मंच का उपयोग करते हुए अपने कैडर के अधिकारियों व कर्मचारियों की विशिष्ट प्रतिभा को सामने लाना चाहिए। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने संगठन की मांगों पर विचार करने और सेवा संबंधी संबंधी विसंगतियां दूर करने का आश्वासन भी दिया। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना में यूपी को देश में पहला स्थान दिलाने के लिए विभागीय अफसरों की पीठ भी थपथपाई। उन्होंने कहा एक वर्ष में 11.53 लाख आवास बनाने का लक्ष्य तय किया गया था, जिसमें 8.5 लाख आवास बनकर तैयार होने वाले हैं। मेरा मानना है कि जिस व्यक्ति के पास आवास नहीं है, वह वास्तव में गरीब व पीडि़त है। ऐसे व्यक्ति को आवास मिल जाना, बड़ी बात है।अफसरों को अच्छा काम करने के लिए प्रेरित करते हुए उन्होंने कहा कि आप जिस कैडर के अधिकारी हैं, उससे आप आम जनता के चेहरे पर खुशी ला सकते हैं। कोई कार्य छोटा या बड़ा नहीं होता है, सोच उसे बड़ा बनाती है। बड़े काम के लिए सोच बड़ी होनी चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि अगर आप एक गांव में केवल दस परिवार को स्वालंबन की दिशा के आगे बढ़ा सके तो गांव खुद ही आगे बढ़ जाएगा। उन्होंने अपने कार्यकाल में 34 वनटांगिया गांवों की तस्वीर बदलने का उदाहरण भी दिया।

विगत डेढ़ वर्ष में मनरेगा के अंदर जो कार्य किया गया उसमें भारत सरकार की ओर से प्रदेश सरकार को कई पुरस्कारों से भी सम्मानित किया गया। हमने कई नदियों को पुनर्जीवित करने का कार्य किया है। अगर हम चाहें तो ग्रामीणों को अच्छे कार्य करने के लिए प्रोत्साहित कर सकते हैं। प्रादेशिक विकास सेवा संगठन के इस सम्मलेन के माध्यम से ग्रामीण अपने विचारों एवं अच्छे कार्यों को शासन के समक्ष रख सकते हैं। हमने ग्रामीण क्षेत्रों में अपनी सेवाओं के माध्यम बेहतर कार्य किया है और इन्ही सेवाओं के माध्यम से प्रदेश में विकास की संभावनाओं को और अधिक विकसित किया जा सकता है। आप जिस कैडर से जुड़े है उससे आप आम जनता के चेहरे पर खुशी ला सकते है। आप मुख्यमंत्री आवास योजना के तहत भी आवास बनवा सकते हैं। उन्होंने कहा कि कार्य कोई छोटा या बड़ा नही होता सोच उसे बड़ा बनाती है। बड़े काम के लिए सोच बड़ी होनी चाहिए। आप को भी बड़ी सोच के साथ काम करना चाहिये।

कई योजनाओ में ग्राम विकास ने देश मे कई पुरस्कार पाए है। आज वह प्रदेश देंश में आगे है जिसे विकास से दूर माना जाता था। अगर एक गांव में दस परिवार को स्वालंबन की दिशा के आगे बढ़ाएंगे तो खुद गांव आगे बढ़ जाएगा। कोई भी जन्म में परिपक्व नही होता। एक दूसरे से सीखना ही लोग को आगे बढ़ाता है। हमें एक दूसरे से सीखना चाहिये और अच्छे काम को अपनाना चाहिये। हमें लोगो के अंदर बचत की प्रवत्ति पैदा करनी होगी। अगर हम चाहे तो आम जन को अच्छे काम के लिए प्रोत्सहित कर सकते है।