देश होम

नमकीन का पैकेट हवा से फटा, जख्मी

नमकीन का पैकेट बच्चे के लिए बना आफत, अंदर भरी हवा से फटा, जख्मी

नमकीन को ताजा और कुरारा बनाने के लिए पैकेट में भरी जाने वाली गैस एक बच्चे के लिए आफत बन गई। काकाेरी क्षेत्र के नरौना गांव में गुरुवार शाम छह वर्षीय मासूम सूर्या ने एक नामचीन कंपनी का नमकीन पैकेट खाने के लिए जैसे ही मुंह के पास फाड़ा तो उसमे विस्फोट हो गया। धमाके से बच्चे के होठ फट गए। बच्चे को गंभीर हालात में एरा हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है।

नरौना गांव निवासी किसान संगम यादव का बेटा सूर्या गुरुवार शाम घर के बाहर खेल रहा था। संगम के मुताबिक बेटे ने पड़ोस स्थित राजू राठौर की दुकान से एक नामचीन कंपनी का नमकीन का पैकेट खरीदा। बेटे ने नमकीन का पैकेट खाने के लिए मुंह के पास फाड़ा तो एकाएक उसमें विस्फोट हो गया। धमाके से बच्चे का होठ फट गया और वह खून से लथपथ हो गया। घटना की सूचना से मोहल्ले में अफरा-तफरी मच गई। संगम परिवारीजनों के साथ बच्चे को लेकर आनन फानन दुबग्गा स्थित ऐरा हॉस्पिटल पहुंचा। जहां, बच्चे की हालात नाजुक देख उसे भर्ती कर लिया गया। बच्चे के पिता ने बताया कि उसकी हालात नाजुक है। डॉक्टर अभी बच्चे से मिलने नहीं दे रहे हैं। वहीं, इंस्पेक्टर काकोरी संजय कुमार ने बताया कि बच्चे के परिवारीजनों ने अभी कोई तहरीर नहीं दी है। तहरीर मिलने पर माले की जांच की जाएगी, पता लगाया जाएगा कि कहां पर पैकेट की पैकिंग की गई है। कैसे विस्फोट हुआ है।एरा मेडिकल कॉलेज के डॉक्टरों के मुताबिक पैकेट खोलने से लगी चोट के बाद सूर्या को यहां लाया गया था। उसके ओठ पर टांके लगाए गए हैं। परिवारीजनों से पूछताछ में पता चला कि पैकेट को मुंह से खोलते समय विस्फोट हो गया। ऐसा पैकेट के अंदर एयर प्रेशर बनने से हुआ होगा। कभी मुंह से पैकेट खोलने की कोशिश न करें। पैकेट के कोने धारधार होते हैं, जिससे चोट लग जाती है।इंडस्टियल सेफ्टी एक्सपर्ट एसके तिवारी के मुताबिक नमकीन के पैकेट में नाइट्रोजन गैस भरी जाती है, ताकि उसमें पैक की हुई नमकीन खराब न हो। नाइट्रोजन में विस्फोटक अथवा ज्वलनशील होने जैसे कोई चीज नहीं होती है।