देश राजनीती होम

दुष्यंत ने बनाई जननायक जनता पार्टी, बोले- इनेलो, बीजेपी व कांग्रेस को उखाड़ फेंकेंगे

चार बार मुख्यमंत्री रह चुके इनेलो सुप्रीमो ओमप्रकाश चौटाला के पौत्र दुष्यंत ने जींद के पांडु पिंडारा की रैली में नई पार्टी का एलान करने के साथ ही इनेलो, भाजपा व कांग्रेस को उखाड़ फेंकने का जनता से आह्वान किया। उन्होंने कहा कि इन सभी दलों ने जनता को ठगने का ही काम किया है। दुष्यंत की पार्टी का नाम जननायक जनता पार्टी होगा। इससे पूर्व डबवाली की विधायक व दुष्यंत की मां नैना चौटाला ने नई पार्टी का झंडा लॉन्च किया। झंडे में 70 प्रतिशत रंग हरा है और 30 प्रतिशत रंग पीला है, जिसमें जननायक चौधरी देवीलाल की फोटो भी है।

पार्टी के झंडे पर देवीलाल की फोटो लगाई गई है और इसका रंग हरा व पीला रखा गया है। दुष्यंत ने कहा कि हरा रंग सुरक्षा, शांति, उन्नति व भाईचारे का प्रतीक है और पीला रंग ऊर्जा और सकारात्मकता का प्रतीक। दुष्यंत ने कहा कि इंडियन नेशनल लोकदल का गठन चौधरी देवी लाल ने नीतियों और सिद्धांतों को लेकर किया था, लेकिन अब पार्टी ने उनके सिद्धांतों को त्यागकर कार्यकर्ताओं को तंग करना शुरू कर दिया। उन्हें व उनके पिता को बिना कारण पार्टी से निकाल दिया गया। लेकिन, वह चुप नहीं बैठेंगे। उन्होंने कहा कि नदियों को रोका नहीं जा सकता है। वह अपनी मेहनत से नई पार्टी को खड़ा करेंगे। यह पार्टी ताऊ देवीलाल के विचारों और लोगों  की जनभावनाओं के अनुरूप चलेगी।पार्टी झंडे पर ओपी चौटाला की फोटो न होने पर दुष्यंत ने कहा कि वह हमारे घर के मुखिया हैं, लेकिन आज वह विरोधी दल में हैं। यह उनकी कानूनी मजबूरी है कि उनकी फोटो न दें। इसके साथ ही उन्होंने ओपी चौटाला जिंदाबाद के नारे भी लगवाए। दुष्यंत ने कहा कि चक्रव्यूह तोड़कर हमने जननायक जनता पार्टी बनाई। पार्टी में वह सभी वर्गों के हितों को संरक्षण देने का काम करेंगे। उन्होंने कहा कि पिछले 4 साल में भाजपा ने भाईचारे को तोड़ने का काम किया। हमारी सरकार बनी तो किसानों का कर्ज माफ होगा, किसानों के लिए ट्यूबवेल कनेक्शन खोलेंगे, फसल दस गुणा एमएसपी पर खरीदी जाएगी।इनेलो की रैलियों में सहयोग करते रहे दुष्यंत और दिग्विजय के समर्थक रविवार को खासे जोश में नजर आए। नारनौंद के पूर्व विधायक रामकुमार गौतम और पूर्व मंत्री कृपा राम पूनिया जननायक जनता पार्टी में शामिल हुए। इनेलो विधायक राजबीर फौगाट और अनूप सिंह धानक के अलावा पूर्व मंत्री हरि सिंह सैनी, सतबीर कादियान, निशान सिंह, अमीर चावला, बंता राम, जगदीश नैय्यर, बीडी शर्मा, रघु यादव, महाबीर फौगाट, बबीता फौगाट, फूलवती, अनंतराम, केसी बांगड़, रमेश खटक और प्रदीप देशवाल ने दुष्यंत चौटाला का मंच साझा किया।पार्किंग व जाम की स्थिति से निपटने के लिए स्वयं सेवकों व इनसो कार्यकर्ताओं की ड्यूटी लगाई गई थी। ये कार्यकर्ता पुलिस प्रशासन की मदद के लिए हर चौक-चौराहे व नाकों पर मौजूद रहे। करीब 1700 स्वयंसेवकों को ड्यूटी आवंटित की गई थी।