उत्तर प्रदेश देश राजनीती होम

मुलायम सिंह को लेकर बोले शिवपाल यादव- अब फर्क नहीं पड़ता

अपने बड़े भाई और सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव को अपने साथ जोड़ने की कोशिश कर रहे प्रगतिशील समाजवादी पार्टी-लोहिया (प्रसपा-लो) प्रमुख शिवपाल सिंह यादव ने शनिवार को कहा कि अब कोई उनका साथ दे या ना दे, फर्क नहीं पड़ता। शिवपाल ने संवाददाताओं से बातचीत में सपा संस्थापक मुलायम के साथ देने से हिचकने के सवाल पर कहा, ‘कौन हमारे साथ है, कौन नहीं है, इसकी मुझे अब कोई चिंता नहीं है।’

इस सवाल पर कि वह हमेशा मुलायम का आशीर्वाद प्राप्त होने का दावा करते हैं, मगर क्या कारण है कि सपा संस्थापक उनकी बजाय अपने बेटे अखिलेश यादव के साथ दिखाई देते हैं, शिवपाल ने कहा कि मुझे इस बारे में कुछ पता नहीं और मैं अब जानकारी करना भी नहीं चाहता।

नई पार्टी बनाने के बाद रविवार को लखनऊ में ‘जनाक्रोश रैली’ करने जा रहे शिवपाल ने कहा, ‘अब हमारे सामने देश और समाज के बहुत से मुद्दे हैं। उन्हीं मुद्दों के कारण हमने जनाक्रोश रैली बुलाई है। हम जनता के मुद्दों को लेकर आगे बढ़ेंग।

उल्लेखनीय है कि शिवपाल ने मुलायम के सामने प्रसपा-लो का नेतृत्व करने की पेशकश रखी थी। वह मुलायम का आशीर्वाद प्राप्त होने का भी लगातार दावा करते रहे हैं। हालांकि ज्यादातर मौकों पर मुलायम अपने बेटे और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव के साथ ही नजर आते रहे हैं।शिवपाल सपा संस्थापक पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव के छोटे भाई हैं। मगर अपने भतीजे अखिलेश यादव से तल्खी के बाद शिवपाल सपा में हाशिये पर पहुंच गये थे। इसी साल अगस्त में सपा में उपेक्षित होने का आरोप लगाते हुए शिवपाल ने ‘समाजवादी सेक्युलर मोर्चा’ गठित किया था। बाद में पार्टी का पंजीकरण होने पर इसका नाम प्रगतिशील समाजवादी पार्टी-लोहिया कर दिया गया था।