देश राजनीती होम

राष्ट्रपति चुनाव लड़ने पर जल्द फैसला ले सकती हैं भारतीय मूल की सांसद कमला हैरिस

2011 से 2017 तक कैलिफोर्निया की अटॉर्नी जनरल भी रह चुकी हैं कमला हैरिस।

अमेरिकी सीनेट में भारतीय मूल की सांसद कमला हैरिस जल्द ही 2020 के राष्ट्रपति चुनाव में अपनी उम्मीदवारी पर फैसला ले सकती हैं। कैलिफोर्निया से डेमोक्रेट पार्टी की सीनेटर कमला ने रविवार को सैन फ्रांसिस्को में एक समारोह के दौरान बताया कि वे छुट्टियों के सीजन में इस पर फैसला ले सकती हैं। उन्होंने कहा, “यह एक पारिवारिक फैसला होगा और छुट्टियों के दौरान मैं अपने परिवार की सलाह के मुताबिक ही राष्ट्रपति चुनाव लड़ने पर फैसला करूंगी।”

अमेरिकी मीडिया ग्रुप पॉलिटिको की रिपोर्ट के मुताबिक, नवंबर में कराए गए डेमोक्रेटिक वोटर्स पोल में कमला को राष्ट्रपति चुनाव के लिए ट्रम्प के खिलाफ पांचवीं पसंदीदा नॉमिनी माना गया था। पोल में पूर्व उपराष्ट्रपति जो बिडेन का नाम सबसे आगे था। इसके बाद वरमोंट के सीनेटर बर्नी सैंडर्स, टेक्सास के रिपब्ल्किन सांसद बीटो ओ’रुर्क और मैसाच्युसेट्स की सीनेटर एलिजाबेथ वॉरेन उनसे आगे थीं।

 

फीमेल ओबामा के नाम से लोकप्रिय
54 साल की कमला हैरिस 2016 में अमेरिकी संसद के उच्च सदन (सीनेट) के लिए निर्वाचित हुई थीं। इस जीत के साथ ही वे सीनेट में पहुंचने वाली भारतीय मूल की पहली और इकलौती महिला सांसद बन गई थीं। ओबामा शासन के दौरान कमला ‘फीमेल ओबामा’ के नाम से लोकप्रिय थीं। उन्हें ओबामा का करीबी माना जाता है। 2016 में सीनेट के चुनाव अभियान में ओबामा ने कमला को सपोर्ट किया था।

 

कैलिफोर्निया से है खास जुड़ाव
कमला 2011 से 2017 तक कैलिफोर्निया की अटॉर्नी जनरल भी रह चुकी हैं। उनका जन्म कैलिफोर्निया के ही ओकलैंड में हुआ। उनकी मां श्यामला गोपालन 1960 में चेन्नई छोड़कर अमेरिका में बस गई थीं। वे कैंसर रिसर्चर थीं। कमला के पिता डोनाल्ड हैरिस मूल रूप से जमैका के थे। वे भी अर्थशास्त्र पढ़ने के लिए अमेरिका आए थे।

 

तुलसी गबार्ड भी पेश कर सकती हैं उम्मीदवारी

कमला के अलावा अमेरिका की पहली हिंदू सांसद तुलसी गबार्ड भी 2020 के राष्ट्रपति चुनाव के लिए उम्मीदवारी पेश कर सकती हैं। 37 साल की तुलसी हवाई से चार बार से डेमोक्रेट सांसद हैं। वे हर बार रिकॉर्ड वोटों से जीती हैं। अगर वे उम्मीदवार बनती हैं तो यह पहली बार हाेगा जब किसी हिंदू को अमेरिका के किसी दल की तरफ से राष्ट्रपति चुनाव में उम्मीदवारी मिलेगी। अगर वे चुनी जाती हैं तो अमेरिका की पहली महिला और सबसे युवा राष्ट्रपति बन सकती हैं।