खेल देश होम

WC-11 Final में 97 रन ठोकने वाले गौतम गंभीर ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को कहा अलविदा

WC-11 Final में 97 रन ठोकने वाले गौतम गंभीर ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कहा

भारतीय क्रिकेट टीम के ओपनर बल्लेबाज गौतम गंभीर ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया है। अपने ट्वीटर के जरिए उन्होंने रिटायरमेंट की घोषणा की। गंभीर को सबसे ज्यादा उस पारी के लिए याद किया जाएगा जो उन्होंने 2011 आइसीसी क्रिगंभीर लंबे अरसे से भारतीय क्रिकेट टीम से बाहर चल रहे थे। वनडे में उन्होंने वर्ष 2003 में बांग्लादेश के विरुद्ध, टेस्ट में वर्ष 2004 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ और टी 20 में उन्होंने 2007 में स्कॉटलैंट के खिलाफ डेब्यू किया था। भारतीय टीम के लिए गंभीर ने आखिरी टेस्ट मैच वर्ष 2016 में इंग्लैंड के खिलाफ, आखिरी वनडे वर्ष 2013 में इंग्लैंड के खिलाफ और आखिरी टी 20 मैच 2012 में पाकिस्तान के खिलाफ खेला था। केट विश्व कप के फाइनल के दौरान श्रीलंका के खिलाफ खेली थी। गंभीर ने इस मैच में भारत के लिए 97 रन की पारी खेलकर टीम की जीत में अहम भूमिका निभाई थी। 14 अक्टूबर 1981 को दिल्ली में पैदा हुए गंभीर ने भारतीय टीम के लिए क्रिकेट के तीनों प्रारूपों में खेला। उन्होंने कुछ एक मौकों पर टीम इंडिया की कप्तानी भी की और टीम के उप-कप्तान भी रह चुके थे। गंभीर ने आइपीएल में कोलकाता नाइट राइडर्स टीम की कप्तानी भी की थी और अपनी कप्तानी में उन्होंने इस टीम को दो बार खिताब भी दिलाया। इस वर्ष आइपीएल में वो दिल्ली की टीम के साथ जुड़े और टीम की कप्तानी भी की लेकिन कुछ मैचों के बाद उन्होंने टीम की कप्तानी छोड़ दी। बाद में दिल्ली की टीम ने उन्हें रिलीज कर दिया था। आइसीसी विश्व कप 2011 के फाइनल में की गई उनकी बल्लेबाजी को क्रिकेट फैंस शायद ही भूल पाएं। गंभीर वर्ष 2007 में आइसीसी टी 20 विश्व कप जीतने वाली टीम का भी हिस्सा रह चुके हैं। गौतम गंभीर एकमात्र भारतीय बल्लेबाज हैं जिन्होंने पांच टेस्ट मैचों में लगातार शतक लगाया था। इसके अलावा वो भारत के एकमात्र बल्लेबाज हैं जिन्होंने चार लगातार टेस्ट सीरीज में 300-300 से ज्यादा रन बनाए थे। गंभीर ने वर्ष 2008 में भारत की तरफ से वनडे क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन बनाए थे। वहीं उन्होंने भारतीय बल्लेबाज के तौर पर वनडे में इसी वर्ष सबसे ज्यादा शतक भी लगाए थे। वर्ष 2009 में टेस्ट क्रिकेट में उन्होंने भारत की तरफ से सबसे ज्यादा शतक लगाए थे। इसी वर्ष उन्होंने आइसीसी टेस्ट प्लेयर ऑफ द ईयर का खिताब भी मिला था साथ ही वो आइसीसी टेस्ट रैंकिंग में नंबर एक बल्लेबाज भी बने थे।

गौतम गंभीर ने भारत के लिए 58 टेस्ट मैच खेले जिसमें उन्होंने नौ शतक की मदद से 4154 रन बनाए थे। टेस्ट में उनका बेस्ट स्कोर 206 था। वहीं वनडे क्रिकेट में उन्होंने 147 मैचों में 5238 रन बनाए थे और उन्होंने 11 शतक भी लगाए। वनडे में उनकी सबसे बेस्ट पारी नाबाद 150 रन की थी। उन्होंने भारत के लिए 37 टी 20 मैच भी खेले जिसमें उन्होंने 932 रन बनाए। उनका सर्वश्रेष्ठ स्कोर 75 था। गंभीर का आइपीएल में कप्तानी का रिकॉर्ड काफी अच्छा रहा। उन्होंने 129 मैचों में से 71 में जीत हासिल की। इसके अलावा उन्होंने आइपीएल में 4218 रन भी बनाए हैं।गंभीर ने अपनी रिटायरमेंट की घोषणा एक वीडियो के जरिए किया जिसमें उन्होंने कहा कि सबसे मुश्किल फैसले भारी दिल के साथ ही लिए जाते हैं और आज मैंने वो फैसला लिया है जिससे मैं पूरी जिंदगी डरता रहा। मैं अपने सभी साथी खिलाड़ियों, कोच और अपने परिवार का भी शुक्रिया अदा करना चाहता हूं।