उत्तर प्रदेश देश राजनीती होम

लखनऊ में भाजयुमो नेता की हत्या, समर्थकों का ट्रॉमा सेंटर पर हंगामा

हत्या के बाद हुआ हंगामा, इनसेट में भाजयुमो नेता

महानगर इलाके में हमलावरों ने भाजयुमो नेता प्रत्यूष मणि त्रिपाठी पर चाकू से हमला करके हत्या कर दी। हफ्ता भर पहले एक युवती से छेड़खानी को लेकर पड़ोसियों से उनका विवाद हुआ था। हत्या से आक्रोशित परिवारीजनों व समर्थकों ने ट्रॉमा सेंटर पहुंचकर हंगामा किया। कई थानों की पुलिस व पीएसी को तैनात किया गया है। पुलिस के मुताबिक, अमीनाबाद के गगनी तालाब निवासी प्रत्यूष मणि त्रिपाठी सोमवार देरशाम बाइक से बादशाहनगर गए थे। वहां अज्ञात व्यक्तियों ने हमला किया। प्रत्यूष गंभीर रूप से घायल होकर सड़क पर गिर गए। एक व्यक्ति ने पुलिस को फोन करके हादसे की सूचना दी।

जेब से मिले परिचयपत्र से प्रत्यूष की पहचान करने के साथ पुलिस ने उन्हें ट्रॉमा सेंटर पहुंचाया। डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। ट्रॉमा सेंटर पहुंचे परिवारीजनों ने सीने पर धारदार हथियार की चोट का निशान देखते हुए हफ्ता भर पुरानी रंजिश में हत्या का आरोप लगाते हुए हंगामा शुरू कर दिया।

भाजयुमो नेता की हत्या का पता चलते ही वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कलानिधि नैथानी ने कई थानों की पुलिस के साथ पीएसी को ट्रॉमा सेंटर भेजा। कैसरबाग पुलिस की टीम ने प्रत्यूष के घर पहुंचकर परिवारीजनों से जानकारी की।

क्षेत्राधिकारी कैसरबाग अमित राय ने बताया कि 25 नवंबर को प्रत्यूष मणि त्रिपाठी का मोहल्ले के कुछ लोगों से विवाद हुआ था। एक युवती ने प्रत्यूषमणि पर छेड़खानी का आरोप लगाते हुए प्राथमिकी दर्ज कराई थी। प्रत्यूष का कहना था कि युवती ने फेसबुक पर उसे फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजी थी।

उसे स्वीकार न करने पर अपने भाइयों से हमला कराया। पुलिस ने प्रत्यूष की भी प्राथमिकी दर्ज की थी। परिवारीजनों का कहना है कि हफ्ता भर पहले हमला कर चुके युवकों पर ठोस कार्रवाई न किए जाने के कारण वारदात अंजाम दी गई।प्रत्यूष मणि की जेब से भारतीय जनता युवा मोर्चा के प्रदेश उपाध्यक्ष के उनके विजिटिंग कार्ड के आधार पर पुलिस ने पहचान की और उनके घर पहुंची। मौत की खबर सुनते ही पत्नी सीमा त्रिपाठी बिलखने लगी। परिवारीजनों ने सीमा के साथ उनकी बेटी रुद्राक्षी, बेटे वंश व दो महीने की बच्ची को किसी तरह संभाला।