देश राजनीती होम

माता-पिता का घर छोड़ अलग राह पर तेजप्रताप, पटना में चाहिए दूसरा सरकारी आवास

माता-पिता का घर छोड़ अलग राह पर तेजप्रताप, पटना में चाहिए दूसरा सरकारी आवास

राष्‍ट्रीय जनता दल (राजद) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के लिए यह बड़ी खबर है। पत्‍नी एेश्‍वर्या राय से तलाक की अर्जी दाखिल करने के बाद लालू के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव अब घर-परिवार से भी दूर होते दिख रहे हैं। जी हां, तेजप्रताप ने अब घर छोड़ने का फैसला किया है। बताया जाता है कि अब वे पटना में नए आवास में रहेंगे। इस बीच वे दोस्‍तों संग दिन बिता रहे हैं। रविवार कर रात उन्‍होंने दोस्‍तों संग लिट्टी पार्टी की। मिली जानकारी के अनुसार तेजप्रताप यादव ने पटना में रहने के लिए बतौर विधायक नए आवास के आवंटन का आवेदन सरकार को दिया है। सूत्र बताते हैं कि इसपर सकारात्मक विचार करते हुए उन्‍हें आवास आवंटित करने पर फैसला जल्‍द ही हो जाएगा। एक-दो सप्‍ताह में उन्हें नया आवास मिल जाने की उम्मीद है। इसके बाद तेजप्रताप विधि-विधान से पूजा-पाठ करके अपने नए सरकारी आवास में प्रवेश कर सकते हैं।विधायक की हैसियत से तेज प्रताप ने हार्डिंग रोड स्थित दो नंबर आवास आवंटित कराने के लिए आवेदन दिया है। यह आवास अभी खाली है। किंतु विभाग के प्रधान सचिव के विदेश दौरे पर चले जाने के कारण आवंटन में कुछ दिन समय लग सकता है। विदित हो कि तेजप्रताप यादव ने पटना परिवार न्‍यायालय में पत्‍नी ऐश्‍वर्या राय से तलाके के लिए अर्जी दाखिल की है। इस मुद्दे पर परिवार का साथ नहीं मिलने पर वे पहले तो रांची जाकर पिता लालू प्रसाद ये मिले, लेकिन उनका भी समर्थन नहीं मिला। इसके बाद वे घर-परिवार से दूर तीर्थों में पूजा-पाठ के लिए निकल गए। वहां से तलाक की पहली सुनवाई के दिन 29 नवंबर को लौटे भी तो होटल में या दोस्‍तों के पास रुके हैं। अब उन्‍होंने घर से दूर रहने का बड़ा फैसला भी ले लिया है।फिलहाल तेजप्रताप ने पटना के राजाबाजार के पास एक होटल को अपना आशियाना बना रखा है। धर्मनिरपेक्ष सेवक संघ के अध्यक्ष अभिनंदन यादव एवं कुछ अन्य मित्रों के यहां भी उनका आना-जाना हो रहा है। तेजप्रताप का अभी मथुरा-वृंदावन जाने का कोई प्रोग्राम नहीं है। रविवार की रात उन्‍हें अभिनंदन यादव के साथ लिट्टी-चोखा की पार्टी करते देखा गया। इस बीच तेजप्रताप यादव को समझाने की पिता लालू प्रसाद यादव, मां राबड़ी देवी तथा भाई तेजस्‍वी यादव व बहन मीसा भारती सहित परिवार के सभी सदस्‍यों ने की है, लेकिन वे टस से मस नहीं हो रहे हैं। तलाक की पहली सुनवाई के दिन भी उन्‍होंने समझौते की अटकलों को खारिज करते हुए कहा कि वे अपने फैसले पर अटल हैं।परिवार वालों ने भी उन्हें समझाकर अब उनका निजी मामला उनपर ही छोड़ दिया है। भाई तेजस्‍वी यादव ने विधानसभा के हालिया शीतकालीन सत्र के दौरान मीडिया से बातचीत में इसे निजी मामला बताते हुए स्‍पष्‍ट कहा कि तेजप्रताप बालिग हैं और उन्‍हें पता है कि क्‍या करना है। तेजप्रताप ने भी दबाव से बचने के लिए खुद को परिवारवालों से दूर कर लिया है। तलाक की सुनवाई के दिन भी परिवार का एक भी सदस्‍य न्‍यायालय में नहीं दिखा।सूत्रों पर विश्‍वास करें तो तेजप्रताप शुक्रवार की देर रात करीब एक बजे कुछ देर के लिए मां राबड़ी देवी के सरकारी आवास गए और कुछ सामान लेकर घर से निकल गए। वहां उनकी परिवार में किसी से बात हुई भी हो तो इसका असर होता नहीं दिख रहा।