उत्तर प्रदेश देश राजनीती होम

योगी सरकार के मंत्री का सवाल, ‘अगर हनुमान दलित हैं तो राम, शंकर और विष्णु की जाति क्या है ?

आजमगढ़। अपने बयानों को लेकर लगातार सुर्खियों में रहने वाले यूपी के कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश राजभर ने फिर बड़ा बयान दिया है। कुछ दिन पहले ही सीएम योगी आदित्यनाथ ने राजस्थान में कहा था कि हनुमान जंगलों के निवासी थे और दलित थे जिन्हें कथाओं के मुताबिक समाज से निकाल दिया गया। राजभर ने हनुमान मुद्दे पर कहा कि भगवान तो भगवान हैं, उनकी जाति नहीं होनी चाहिए। अगर यही है तो भगवान राम, शंकर और विष्णु की भी जाती बता दो। राजभर ने आगे कहा कि आज शिक्षा और रोजगार की बात होनी चाहिए, विकास की बात होनी चाहिए लेकिन, आज जाति पर बात की जा रही है। यूपी के आजमगढ़ के बरदह में शोक संवेदना व्यक्त करने पहुंचे राजभर ने तब ये बात कही।

दरअसल आजमगढ़ के दीदारगंज थाना क्षेत्र के आम गांव में भीषण दुर्घटना हुई। जिसमें 5 लोगों की मौत हो गई थी। राजभर अपने पार्टी के कार्यकर्ताओं के साथ शोक संवेदना व्यक्त करने के लिए पहुंचे थे। इस दौरान बातचीत में उन्होंने हनुमान जी को दलित बताने के मुद्दे पर अपनी असहमति व्यक्त की। उन्होंने कहा कि हमें जाति के मुद्दे से हटकर विकास और रोजगार की बात करनी चाहिए। आपको बता दें कि यूपी के मुरादाबाद में सीएम योगी के खिलाफ एक परिवाद दायर किया गया है। शिकायतकर्ता वकील त्रिलोक चंद्र दिवाकर ने योगी के खिलाफ मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत में परिवाद दायर किया है। अदालत ने इस मामले की सुनवाई दस दिसंबर तय की है।