देश राजनीती होम

क्या राजद नेताओं ने भी बढ़ा ली है तेजप्रताप से दूरी ?

घरवालों के साथ ही क्या राजद नेताओं ने भी बढ़ा ली है तेजप्रताप से दूरी!

राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद के बड़े पुत्र तेजप्रताप यादव ने जबसे अपनी पत्नी एेश्वर्या राय को तलाक देने की अर्जी कोर्ट में दाखिल की है और जिद पर अड़े हैं कि वो एेश्वर्या राय को तलाक देकर रहेंगे। उनपर किसी के समझाने-बुझाने का कोई असर नहीं हो रहा है। परिवार वाले भी उन्हें समझाकर थक गए हैं और अब उन्होंने उनका निजी मामला उनपर ही छोड़ दिया है।

एेसे में तेजप्रताप ने खुद को परिवारवालों से दूर कर लिया है ताकि कोई उनपर दबाव ना बना सके। वो पटना में रहकर भी घर से दूर-दूर रह रहे हैं। एेसे में परिवारवालों के साथ अब राजद नेताओं ने भी उनसे दूरी बना ली है। एेसा इसलिए कि जिसदिन तेजप्रताप के तलाक याचिका पर पहली सुनवाई थी, उसदिन वहां राजद का कोई नेता मौजूद नहीं था।दूसरी ओर शुक्रवार को तेजप्रताप जब बिहार विधानमंडल के शीतकालीन सत्र के अंतिम दिन विधानसभा पहुंचे तो वहां भी राजद का कोई नेता मौजूद नहीं था। हालांकि तेजप्रताप लॉबी में थोड़ी देर बैठे रहे और फिर वापस घर ना जाकर अपने दोस्तों के साथ कार से निकल गए।

एेसे में लग रहा है कि तमाम परेशानियों को झेल रहा लालू परिवार तेजप्रताप के गुस्से  ने पार्टी और लालू परिवार की मुसीबतें और बढ़ा दी हैं। एेसे में तेजप्रताप को लेकर अब पार्टी के नेताओं के रूख भी लगता है कि बदलने लगे हैं।

इधर मीडिया में खबर के मुताबिक विश्वस्त सूत्रों से जानकारी मिली कि तेजप्रताप यादव शुक्रवार की देर रात करीब एक बजे कुछ देर के लिए राबड़ी आवास गए और वहां उन्होंने किसी से मुलाकात तक नहीं की ना ही कोई बात की। बस घर से अपना कुछ सामान लेकर निकल गए।

जानकारी के मुताबिक लालू यादव भी तेज प्रताप यादव की इस जिद और एेसे बर्ताव से काफी नाराज हैं।शीतकालीन सत्र के दौरान आखिरी दिन तेज प्रताप यादव विधानसभा में दिखे। लेकिन इस दौरान उनके साथ ना तो तेजस्वी यादव थे और ना ही कोई और विधायक था।

इससे लग रहा है कि अब पार्टी से भी उनकी दूरी नजर आ रही है‌। हालांकि राजद नेता इस बात से इनकार करते हैं। राजद नेता भाई वीरेंद्र ने कहा कि ऐसी कोई बात नहीं है। सब ठीक है तेज प्रताप यादव वृंदावन गए थे, इस कारण वे पार्टी की बैठकों में शामिल नहीं हो पाए और इसकी जानकारी उन्होंने पहले ही दे दी थी। सब ठीक हो जाएगा, हम ये उम्मीद करते हैं।