उत्तराखंड देश

उत्तराखंड: देश का पहला स्‍टेट डाटा सेंटर, CM त्रिवेंद्र ने किया उद्घाटन

देहरादून: मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने देश का पहला स्टेट डाटा सेंटर का उद्घाटन किया. सूचना प्रौद्योगिकी विकास एजेंसी आईटीडीए भवन में डाटा सेंटर तैयार किया गया है. जानकारी के मुताबिक, डाटा सेंटर राज्य सरकार के विभिन्न सरकारी विभागों को सभी प्रकार की सुरक्षित, भरोसेमंद, कुशल और हर उपलब्ध रहने वाली डिजिटल सेवाएं प्रदान करेगा.

राज्य में ये पहला स्टेट डाटा सेंटर विभिन्न विभागों के लिए एक कामन डाटा सेंटर है, जिसके माध्यम से विभाग अपनी आईटी जरूरतों की पूर्ति एक ही मंच में सामान्य रूप से बनाए गए निजी क्लाउड पर सकता है.

आपको बता दें कि साल 2008 से डाटा सेंटर बनाने की कयावद चल रही थी. जो 2018 में बनकर तैयार हुई. मुख्यमंत्री ने स्टेट डाटा सेंटर बनने पर खुशी जाहिर की और कहा कि डाटा सेंटर हाई स्पीड इंटरनेट सेवा से जुड़ा हुआ है. सीएम त्रिवेंद्र ने बताया उत्तराखंड ही नहीं बल्कि अन्य राज्य भी इस डाटा सेंटर में अपनी सूचना एकत्रित करवा सकते हैं.

इसके जरिए आगे आने वाले समय में सरकारी विभागों के नागरिक सेवाओं का लाभ आम लोगों के बीच अधिक सुगमता से पहुंचाएगा. इसके साथ ही विभिन्न विभागों के ऑनलाइन डाटाबेस को एक ही स्थान पर एकीकृत करने में मदद मिलेगी. खास बात यह कि बिजली की आवश्यकता को कम करने और कम खपत के लिए इसे ग्रीन कांसेप्ट पर बनाया गया है. यह नवीन तकनीक कनवर्जेंट टेक्नोलाजीज पर निर्मित है.

इस दौरान उन्होंने गैरसैंण में सत्र को लेकर पर भी अपनी प्रतिक्रिया दी. सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि गैरसैंण में सत्र आयोजित करना है या नहीं यह सरकार का निर्णय है. उनकी सरकार ने दो बार पहले भी गैरसैण में सत्र आयोजित किया है. आपको बताते चलें कि बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट ने बिना सुविधाओं और तैयारियों के गैरसैण में सत्र आयोजित न करने का बयान दिखा दिया था. इसके बाद पूरे प्रदेश में गैरसैण पर राजनीति भी शुरू हो गई थी.