देश राजनीती होम

राम पूरे विश्व के हैं तो मंदिर अयोध्या में ही क्यों? : फारुक अब्दुल्ला

Farooq Abdulah says Lord Ram belongs to world, why build His temple in Ayodhya

राम मंदिर निर्माण पर जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारुख अब्दुल्ला के बयान से नया विवाद खड़ा हो सकता है. सोमवार को कांग्रेस नेता मनीष तिवारी की किताब ‘फेब्लस आफ फ्रेक्चरर्ड टाइम्स’ के लॉन्च पर फारुख अब्दुल्ला ने राम मंदिर बनाने पर सवाल खड़े कर दिए. फारुख अब्दुल्ला ने कहा कि अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण क्यों होना चाहिए जबकि राम सर्वव्याप्त हैं और पूरी दुनिया के भगवान हैं.

 

जेडीयू नेता पवन वर्मा ने जब फारुख अब्दुल्ला की बात का विरोध किया और अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण क्यों नहीं होना चाहिए. वर्मा ने कहा, ”अगर हिंदू वहां मंदिर चाहते हैं तो वहां मंदिर बनना चाहिए. सवाल ये नहीं है कि क्या मंदिर बनना चाहिए, सवाल ये हैं कि ये कैसे बनेगा. हिंसा से, आपकी सहमति से या कोर्ट के आदेश से.”

 

इस पर अब्दुल्ला ने पूछा कि वो इस मामले में कोर्ट का आदेश मानेंगे. फारुख अब्दुल्ला ने कहा कि लोकतंत्र में आप सुप्रीम कोर्ट को दरकिनार करना चाहते हैं. अब्दुल्ला ने पूछा, ”बिहार के सीतामणि में देवी सीता का मंदिर क्यों नहीं बनना चाहिए?” अब्दुल्ला ने कहा, “सभी मुसलमानों ने कहा कि वो कोर्ट के आदेश का पालन करेंगे.” इस पर पवन वर्मा ने उत्तर दिया, “अब हम एक करार में हैं.”

 

अब्दुल्ला ने वाजपेयी के बहाने कांग्रेस को भी निशाने पर लिया. उन्होंने कहा कि कांग्रेस को वाजपेयी को उनके अच्छे स्वास्थ्य के समय भारत रत्न देना चाहिए था. उन्होंने कहा कि कांग्रेस को अपने क्षेत्रीय नेताओं तो आगे आने देना चाहिए. उन्होंने कहा कि ऐसा नहीं करने से ही पार्टी को परेशानी का सामान करना पड़ रहा है.