देश राजनीती होम

कांग्रेस और टीआरएस में चल रही झूठ बोलने की प्रतियोगिता : PM मोदी

पीएम नरेंद्र मोदी (फोटो-PTI)

तेलंगाना विधानसभा चुनाव के लिए निजामाबाद में आयोजित चुनावी रैली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुख्यमंत्री चंद्रशेखर राव पर हमला करते हुए कहा कि वह भी कांग्रेस की राह पर है क्योंकि जिस तरह वह बगैर काम के चुनाव जीतती रही उसी तरह वोे भी ऐसा कर चुनाव जीत सकते हैं.

निजामाबाद में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि राज्य की 2 बड़ी पार्टियों कांग्रेस और टीआरएस में झूठ बोलने की प्रतियोगिता चल रही है. उन्होंने आगे कहा कि हम ‘सबका साथ- सबका विकास’ में विश्वास करते हैं, हमें वोट बैंक की राजनीति में विश्वास नहीं है.

राज्य की सरकार केंद्र सरकार की ‘आयुष्मान भारत’ से डरती है तभी उसने राज्य में इस बेहतरीन योजना को लागू करने से मना कर दिया. हमने 2 महीने पहले इस योजना को लॉन्च किया और इस दौरान 3 लाख परिवारों ने ‘आयुष्मान भारत’ की योजना का लाभ उठाया है, लेकिन इसमें एक भी तेलंगाना से नहीं है और इसके लिए राज्य की सरकार और मुख्यमंत्री जिम्मेदार है.

मोदी ने कहा है कि जिनका विकास में विश्वास है, नए भारत के निर्माण में विश्वास है, जिनका नया तेलंगाना बनाने में विश्वास है, वो भारतीय जनता पार्टी को आगे बढ़ा रहे हैं. उन्होंने कहा कि लंबे संघर्ष और युवाओं के बलिदान की वजह से तेलंगाना राज्य का निर्माण हुआ, लेकिन राज्य सरकार ने उनके बलिदान को खत्म कर दिया.

उन्होंने आगे कहा कि तेलंगाना में साढ़े 4 साल गुजर गए, लेकिन राज्य सरकार ने कुछ नहीं किया और राज्य को बर्बाद कर दिया. जिन्होंने यहां के नौजवानों, दलितों, वंचितों, और अन्य लोगों के विकास के वादे किए थे, उन्हें यहां की जनता को अगले चुनाव में सबक सीखाना चाहिए. यहां के मुख्यमंत्री और उनका पूरा परिवार ऐसा मानता है कि इस देश में कांग्रेस ने कुछ नहीं किया.

मोदी ने कांग्रेस के साथ-साथ तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) के नेता केसीआर पर निशाना साधते हुए कहा कि वह कांग्रेस की राह पर चल रहे हैं. जिस तरह से कांग्रेस को लगता है कि वह बिना काम किए चुनाव जीत सकती है तो वह भी चुनाव जीत सकते हैं.

समय से पूर्व चुनाव कराए जाने के राज्य सरकार के फैसले पर कहा कि यह अच्छा हुआ कि उन्होंने समय से पहले ही विधानसभा भंग करा दिया जिससे यहां की जनता को दुर्दशा से कुछ दिन पहले निजात मिल गई.

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने वादा किया था कि नजीमाबाद को लंदन जैसा बना देंगे, लेकिन यहां की स्थिति देखिए. यहां के लोग बिजली-पानी जैसी मूलभूत सुविधाओं के लिए भी परेशान हो गए. क्षेत्र विकास के मामले में काफी पीछे चला गया.

तेलंगाना विधानसभा चुनाव में 119 विधानसभा सीटों के लिए 7 दिसंबर को मतदान होंगे और नतीजे 11 दिसंबर को आएंगे. मौजूदा समय में तेलंगाना में बीजेपी के पास 5 विधायक हैं और वह अकेले ही चुनाव लड़ रही है. जबकि कांग्रेस टीडीपी, सीपीएम और तेलंगाना जन समिति (टीजेएस) के साथ मिलकर चुनाव लड़ रही है. इन सभी का मुकाबला सत्ताधारी तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) से हैं.

तेलंगाना विधानसभा चुनाव में जीत दर्ज करने के लिए टीआरएस, बीजेपी और कांग्रेस पूरा ताकत लगा रही हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तेलंगाना के रण में पहली बार मंगलवार को उतर रहे हैं. वो दो चुनावी जनसभा को संबोधित करेंगे.

पीएम मोदी की पहली रैली तेलंगाना के निजामाबाद में दोपहर में उसके बाद दूसरी जनसभा दिन में करीब ढाई बजे महबूबनगर में होगी. इसके बाद सोमवार को यानी 3 दिसंबर को असदुद्दीन ओवैसी के गढ़ हैदराबाद में पीएम की एक बड़ी जनसभा प्रस्तावित है.

पीएम मोदी ही नहीं बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह भी तेलंगाना के राजनीतिक समर में उतरेंगे. शाह बुधवार को रैली संबोधित करेंगे और इसके बाद रविवार को यानी 2 दिसंबर को दोबारा से पहुंचेंगे. हालांकि बीजेपी अध्यक्ष इससे पहले तेलंगाना में दो चुनावी रैलियों को संबोधित कर चुके हैं.

वहीं, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी गुरुवार को तेलंगाना विधानसभा चुनाव की सियायी रणभूमि में उतरेंगे. वे पारिगी और हैदराबाद के पास चेवेल्ला में रोड शो के जरिए माहौल बनाने की कोशिश करेंगे. हालांकि, राहुल गांधी ने 23 नवंबर को यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी के साथ हैदराबाद के बाहरी इलाके स्थित मेडचल में एक जनसभा को संबोधित किया था.

टीडीपी अध्यक्ष और आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू के तेलंगाना विधानसभा चुनाव प्रचार अभियान में बुधवार और गुरुवार को उतरने की उम्मीद है.

टीआरएस अध्यक्ष और मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव पूरे राज्य में रैलियों को लगातार संबोधित कर रहे हैं. इसके अलावा उनके बेटे और तेलंगाना सरकार में मंत्री रहे के टी रामाराव भी चुनावी प्रचार की कमान संभाले हुए हैं.