देश होम

एयर फोर्स की मदद से घने जंगलों में लाल आतंक पर ‘प्रहार’

एयर फोर्स की मदद से घने जंगलों में लाल आतंक पर 'प्रहार', मारा गया नक्सलियों का ट्रेनर

छत्तीसगढ़ के सुकमा में नक्सलियों के खिलाफ सोमवार को सुरक्षा बल के जवानों ने बड़ी कार्रवाई की है. घने जंगलों के बीच नक्सलियों की मांद में घुसकर जवानों ने आॅपरेशन प्रहार-4 को अंजाम दिया है. इस आॅपरेशन प्रहार में एयर फोर्स की भी मदद ली गई है. नक्सल हिंसा के खिलाफ इस मुहिम में 9 नक्सलियों के शव बरामद हो चुके हैं. इसमें एक नक्सलियों का ट्रेनर भी है. इस आॅपरेशन में डीआरजी के दो जवान भी शहीद हुए हैं.एंटी नक्सल आॅपरेशन, छत्तीसगढ़ के स्पेशल डीजी डीएम अवस्थी ने नक्सलियों के खिलाफ आॅपरेशन प्रहार-4 को लेकर मीडिया से चर्चा की. डीएम अवस्थी ने बताया कि सीआरपीएफ, जिला पुलिस बल, डीआरजी, एसटीएफ सहित सुरक्षा बल की अन्य यूनिट के करीब 1200 जवानों ने तय रणनीति के तहत नक्सलियों पर हमला बोला. हमले के लिए एयरफोर्स की भी मदद ली गई. घने जंगलों में भी एयर फोर्स ने सावधानी पूर्वक हेलीकॉप्टर से जवानों को पहुंचाया और वहां से लाया भी जा रहा है.

डीएम अवस्थी ने बताया कि सुकमा के किस्टाराम थाना क्षेत्र के साकलेर में आॅपरेशन प्रहार-4 को अंजाम दिया गया है. इस हमले में सुकमा के गगनपल्ली का रहने वाला ताती भीमा भी मारा गया है. ये नक्सल संगठन के ट्रेनर का हेड था. इसपर 8 लाख रुपये का इनाम घोषित था. इसके अलावा खूंखार महिला नक्सली पोडियम राजे को भी मार गिराया गया है. इसपर भी 8 लाख रुपये का इनाम घोषित था.डीएम अवस्थी ने बताया कि एयरफोर्स की मदद से नक्सलियों के बरामद 9 शव व डीआरजी के शहीद जवानों को हेलीकॉप्टर की मदद से शाम करीब पांच बजे घटना स्थल से सुकमा जिला मुख्यालय से रवाना कर दिया गया है. सुकमा के सालेतोन और साकले के जंगलों में आॅपरेशन चलाया गया. घटना स्थल से बड़ी मात्रा में हथियार भी बरामद किए गए हैं. मुठभेड़ में कई नक्सलियों के मारे जाने की भी संभावना है.