देश राजनीती होम

करतारपुर कॉरिडोरः मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने ठुकराया पाक का न्योता

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने 28 नवंबर को करतारपुर साहिब कॉरिडोर के आधारशिला समारोह के लिए भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और पंजाब के कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू को निमंत्रण भेजा था। पाकिस्तान के विदेश मंत्री एस एम कुरैशी ने ट्वीट कर यह जानकारी दी थी। हालांकि पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने पाकिस्तान के निमंत्रण को ठुकरा दिया है। उन्होंने इसके पीछे पंजाब में हो रही आतंकवादी हमलों और पाकिस्तानी सशस्त्र बलों द्वारा भारतीय सैनिकों को निशाना बनाए जाने का हवाला दिया। वहीं पाकिस्तान के न्योते पर पंजाब सरकार में मंत्री नवोजत कौर सिद्धू ने तत्परता दिखाई है। पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी के निमंत्रण का जवाब देते हुए नवजोत सिंह सिद्धू कहा कि, मैं इस ऐतिहासिक अवसर पर आपसे मिलने के लिए तत्पर हूं। पाक पहंचने के लिए मेरा आवेदन अब विदेश मंत्रालय में अनुमति के लिए पहुंच गया है।इस दौरान नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि यह दोनों सरकारों द्वारा (भारत और पाकिस्तान)  सराहनीय कदम है। मैं कहता था कि आप ( भारत) एक कदम उठाएंगे और वे (पाकिस्तान) दो लेने के लिए तैयार हैं। अब आपने एक कदम उठाया और उन्होंने अगले दिन घोषणा की कि इसका उद्घाटन करेंगे।इससे पहले कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा था कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की ओर से करतारपुर कॉरिडोर की आधारशिला समारोह में पाक आने का न्योता मिल गया है, लेकिन पाकिस्तान जाने का फैसला वह मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और भारत सरकार से अनुमति मिलने के बाद ही लेंगे। पाकिस्तान सरकार 28 नवंबर को अपने क्षेत्र में करतार कॉरिडोर के निर्माण की आधारशिला रखेगी। वहीं भारत में 26 नवंबर को उप राष्ट्रपति वेंकैया नायडू और पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह कॉरिडोर की नींव रखेंगे।

बता दें कि पाक प्रधानमंत्री इमरान खान के शपथ ग्रहण समारोह में नवजोत सिंह सिद्धू पाकिस्तान गए थे। इस दौरान वो पाक सेना प्रमुख कमर जावेद बाजवा से गले मिले थे, जिसको लेकर विवाद हो गया था। भाजपा ने इस मामले में कड़ा विरोध दर्ज कराया था। वहीं पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भी गले मिलने पर एतराज जताया था। माना जा रहा है कि पाकिस्तान के अपने दौरे में उपजे विवाद को ध्यान में रखते हुए नवजोत सिद्धू इस बार भारत सरकार की मंजूरी लेकर ही पाक जाना चाहते हैं।इस बीच जानकारी मिली है कि 26 नवंबर को भारतीय क्षेत्र में करतारपुर कॉरिडोर का नींव पत्थर रखने के कार्यक्रम में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद हिस्सा नहीं ले सकेंगे। उनके विदेश दौरे पर होने के कारण उप राष्ट्रपति वेंकैया नायडू आधारशिला कार्यक्रम में शिरकत करेंगे। इसके अलावा आधारशिला कार्यक्रम में कई केंद्रीय मंत्री भी हिस्सा लेने पहुंचेंगे। पहले राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह कॉरिडोर की आधारशिला रखने वाले थे, लेकिन अब मुख्यमंत्री के साथ कार्यक्रम में उपराष्ट्रपति होंगे।