देश राजनीती होम

PAK से मिले न्योते पर सुषमा ने कहा- शुक्रिया, मैं नहीं लेकिन मेरे सहयोगी होंगे शामिल

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज (फोटो-Reuters)

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने करतारपुर कॉरिडोर शिलान्यास समारोह में शामिल होने के लिए आमंत्रित किए जाने पर पाकिस्तान सरकार को शुक्रिया कहा है. उन्होंने शनिवार को कहा कि इस कार्यक्रम में भारत सरकार के प्रतिनिधि के तौर पर हरसिमरत कौर बादल और हरदीप सिंह पुरी शामिल होंगे.

इससे पहले करतारपुर कॉरिडोर शिलान्यास समारोह में शामिल होने के लिए पाकिस्तान ने सुषमा स्वराज को आमंत्रण दिया था. पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी थी.

शाह महमूद कुरैशी ने शनिवार को कहा कि पाकिस्तान की तरफ से मैं विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और नवजोत सिंह सिद्धू को करतारपुर कॉरिडोर शिलान्यास समारोह में शामिल होने के लिए आमंत्रित करता हूं.सुषमा स्वराज ने शनिवार देर रात ट्वीट कर पाकिस्तान सरकार का शुक्रिया अदा किया. सुषमा स्वराज ने सिलसिलेवार ट्वीट में कहा, ‘मैं 28 नवंबर 2018 को करतारपुर साहिब कॉरिडोर शिलान्यास समारोह में शामिल होने के लिए आमंत्रित किए जाने पर पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी का शुक्रिया अदा करती हूं.’

उन्होंने कहा, ‘मैं निर्धारित तारीख को करतारपुर साहिब जाने में असमर्थ हूं. लेकिन वहां भारत सरकार के प्रतिनिधि के तौर पर मेरे सहयोगी हरसिमरत कौर बादल और हरदीप सिंह पुरी उपस्थिति होंगे.’  भारतीय विदेश मंत्री ने कहा, ‘हमें उम्मीद है कि पाकिस्तान सरकार कॉरिडोर का निर्माण सुनिश्चित करेगी ताकि हमारे नागरिक गुरुद्वारा करतारपुर साहिब में जल्द से जल्द जा सकें. ‘

वहीं भारत में उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू 26 नवंबर को डेरा बाबा नानक-करतारपुर साहिब सड़क गलियारे की आधारशिला रखेंगे. यह सड़क गुरदासपुर जिले के मान गांव से पाकिस्तान से लगने वाली अंतरराष्ट्रीय सीमा तक जाएगी. केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी, केंद्रीय खाद्य प्रसंस्करण मंत्री हरसिमरत कौर बादल, पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह इस मौके पर उपस्थित रहेंगे. सड़क परिवहन मंत्रालय की ओर से जारी बयान में इसकी जानकारी दी गई है.

बता दें कि भारत सरकार ने 2019 में गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व के उपलक्ष्य में करतारपुर सड़क गलियारे के निर्माण का 22 नवंबर, 2018 को फैसला किया. इस सड़क का निर्माण भारत-पाकिस्तान सीमा तक एकीकृत विकास परियोजना के रूप में किया जाएगा. इस गलियारे के निर्माण से सिख श्रद्धालु पाकिस्तान में रावी नदी के तट पर स्थित गुरुद्वारा दरबार साहिब में मत्था टेक सकेंगे.

पाकिस्तान में इमरान खान 28 नवंबर को कॉरिडोर का शिलान्यास करेंगे. इससे पहले गुरुवार को नवजोत सिंह सिद्धू ने इस कॉरिडोर के लिए इमरान खान का धन्यवाद किया था. सिद्धू ने ट्वीट करते हुए लिखा कि धन्यवाद इमरान खान. हम इस सकारात्मक कदम का स्वागत करते हैं. यह मानवता के लिए एक बड़ी सेवा है.

बता दें कि इमरान खान ने जब पाकिस्तान के प्रधानमंत्री पद की शपथ ली थी तो उन्होंने नवजोत सिंह सिद्धू को न्योता भेजा था, सिद्धू समारोह में पहुंचे भी थे. शपथ ग्रहण समारोह में शिरकत करने और पाकिस्तानी सेना प्रमुख से गले मिलने को लेकर नवजोत सिंह सिद्धू की तीखी आलोचना भी हुई थी. सिद्धू ने अपने इस दौरे के दौरान करतारपुर कॉरिडोर का मामला भी उठाया था.भारत सरकार ने इससे पहले सिखों के प्रथम गुरु नानक देव की 550वीं जयंती पर करतारपुर साहिब तक कॉरिडोर का निर्माण करने का फैसला लिया. सरकार गुरदासपुर जिले से लेकर अंतरराष्ट्रीय बॉर्डर तक करतारपुर कॉरिडोर का निर्माण करेगी. जहां सभी जरूरी सुविधाएं मुहैया कराई जाएंगी. इस कॉरिडोर से लोगों को करतारपुर साहिब जाने में मदद मिलेगी. भारत सरकार के इस फैसले का पाकिस्तान ने स्वागत भी किया था.