होम

CIA के पास रिकॉर्डिंग, सऊदी प्रिंस कह रहे ‘खशोगी को जल्द चुप करा दो’

सऊदी पत्रकार जमाल खशोगी की हत्या के मामले में अमेरिकी खुफिया एजेंसी (CIA) को बड़ा सुराग हाथ लगा है। एक तुर्किश न्यूज वेबसाइट ने गुरुवार को अपनी रिपोर्ट में दावा किया कि CIA के पास एक फोन कॉल की रिकॉर्डिंग है जिसमें सऊदी क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान आदेश देते सुनाई देते हैं, ‘जितनी जल्दी संभव हो जमाल खशोगी को चुप कर दो।’ आपको बता दें कि खशोगी की हत्या के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने सऊदी अरब के साथ अपनी भागीदारी को और मजबूत करते हुए उसे अहम सहयोगी बताया है। हालांकि आलोचकों का कहना है कि ट्रंप ने सऊदी पर अमेरिका के रुख को लचर बना दिया है। ट्रंप ने मंगलवार को पत्रकार की हत्या को लेकर सऊदी के वली अहद (क्राउन प्रिंस) मोहम्मद बिन सलमान का बचाव किया था। हालांकि केंद्रीय खुफिया एजेंसी (CIA) की रिपोर्ट में कहा गया है कि शासन की ओर से हत्या पर रजामंदी थी। अब इस मीडिया रिपोर्ट के सामने आने के बाद सऊदी सरकार पर एक बार फिर सवाल उठ रहे हैं। रिपोर्ट में तुर्की के जानेमाने स्तंभकार का हवाला दिया गया है जिन्होंने कहा कि CIA डायरेक्टर ने पिछले महीने अंकारा की यात्रा के दौरान रिकॉर्डिंग होने के संकेत दिए थे। हालांकि रॉयटर्स द्वारा संपर्क किए जाने पर एक तुर्किश अधिकारी ने कहा कि उन्हें ऐसे किसी रिकॉर्डिंग की जानकारी नहीं है।

इस बीच, सऊदी अरब के विदेश मंत्री ने कहा है कि अपने नेतृत्व को लेकर पूरा देश एकजुट है। उन्होंने उस रिपोर्ट को हास्यास्पद करार दिया जिसमें कहा जा रहा है कि सऊदी शाही परिवार के सदस्य उत्तराधिकार की लाइन में बदलाव देखना चाहते हैं। CNBC द्वारा किए गए एक इंटरव्यू में रॉयटर्स की उत्तराधिकार की लाइन में बदलाव संबंधी रिपोर्ट के बारे में पूछे जाने पर अब्देल-अल-जुबेर ने कहा, ‘यह बेहद अपमानजनक टिप्पणियां की जा रही हैं, जो अस्वीकार्य हैं।’ उधर, रॉयर्टस ने एक बयान में कहा, ‘हम अपनी स्टोरी पर कायम हैं।’ रॉयटर्स ने रॉयल कोर्ट के तीन करीबी सूत्रों का हवाला देते हुए कहा था कि पत्रकार खशोगी की हत्या को लेकर दुनियाभर में फैले आक्रोश के बीच सऊदी के सत्तारूढ़ परिवार के कुछ सदस्य क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान को किंग बनने से रोकना चाहते हैं।

जुबेर ने कहा, ‘इस मसले पर सऊदी अरब किंगडम एकजुट है। सुधारों को लेकर हमारे लीडरों ने जो विजन 2030 रखा है, उसको लेकर पूरा देश प्रतिबद्ध है।’ आपको बता दें कि इस्तांबुल में पिछले महीने सऊदी वाणिज्य दूतावास के भीतर क्राउन प्रिंस के आलोचक और पत्रकार खशोगी की हत्या के बाद पूरी दुनिया में आलोचना की जा रही है। सऊदी के प्रमुख सहयोगी अमेरिका के अधिकारियों और कुछ नेता भी उसकी निंदा कर रहे हैं। अमेरिकी सूत्रों के मुताबिक CIA का मानना है कि क्राउन प्रिंस ने ही पत्रकार की हत्या का आदेश दिया था। हालांकि राष्ट्रपति ट्रंप अब भी प्रिंस का बचाव कर रहे हैं।