उत्तर प्रदेश देश होम

बीबीएयू में छात्राओं से हो रही कार्पोरेट मेस के नाम पर वसूली

Image result for BBAU LUCKNOW

बाबा साहेब भीमराव आंबेडकर विश्वविद्यालय में को-ऑपरेटिव मेस के नाम छात्राओं से वसूली की जा रही है। दरअसल विवि के यशोधरा हॉस्टल में पहले टेंडर के मुताबिक मेस संचालित की जाती थी जिसकी काफी शिकायते थें। इसके बाद को-ऑपरेटिव मेस शुरू की गई जो छात्राएं चलाएंगे और उन्हीं के मेन्यू के मुताबिक खाना मिलेगा। पहले 65 रुपये डाइट थी लेकिन अब नियमित डाइट 70 रुपये और प्रतिदिन 80 रुपये डाइट कर दी गई है। लेकिन मेस संचालक पुराने ही मेन्यू से खाना दे रहा है। छात्राओं ने इसकी शिकायत वार्डन से भी कि मेन्यू पुराना है तो पैसे बढ़ाकर देना तो एक तरह से वसूली है। हालांकि इस संबंध में कोई कार्रवाई नहीं की गई है।को-ऑपरेटिव मेस का नियम है कि मेस संचालक का चयन छात्र ही करते हैं। लेकिन यशोधरा हॉस्टल में छात्रों की सहमती के बिना पुराने ही मेस संचालक को काम दे दिया गया। जबकि उसी के खिलाफ छात्राओं ने शिकायत की थी। बुधवार को मेस में छात्राओं को रात में छोले भटूरे दिये गए जबकि मेन्यू में छात्राओं ने चिली पनीर दिया गया है। इसी तरह गुरुवार को ब्रेकफास्ट में कचौड़ी है तो मेस संचालक ने पाव भाजी दी। गुरुवार को छात्राओं के मुताबिक खाने में कीड़ा भी निकला लेकिन जब वार्डन से फोन पर शिकायत की तो एक्शन लेने की जगह वार्डन ने मेस कमिटी से शिकायत करने को कहा।इस पूरे मामले पर जब वार्डन नीतू सिंह से बात की गई तो उन्होंने कहा कि मेरे पास मेन्यू के पालन न करने की कोई शिकायत नहीं आई जबकि छात्राओं के मुताबिक उन्होंने कई शिकायत की। वार्डन के मुताबिक मेस संचालक को छात्राओं ने ही चुना है लेकिन छात्राओं का कहना है कि जिसके खिलाफ हम पहले ही शिकायत कर चुके है उसको दोबारा क्यों चुनेंगे। वार्डन के स्तर से ही उसे रखा गया है। इसके अलावा वार्डन का ये भी कहना है कि हॉस्टल के आधे से ज्यादा बच्चे बीमार है तो वो खाना नहीं खाना चाहते हैं। मुझे कोई शिकायत नहीं देते हैं।