उत्तर प्रदेश देश राजनीती होम

मामूली विवाद में दिनदहाड़े गोेली मारकर युवक की हत्या

मामूली विवाद में दिनदहाड़े गोेली मारकर युवक की हत्या, आरोपित हिरासत में

अति व्यस्त सुभाष मार्ग पर जहाज वाली कोठी के सामने मंगलवार बाइक सवार बदमाशों ने अनस (18) की दिनदहाड़े गोली मारकर हत्या कर दी। वारदात को अंजाम देकर बाइक सवार बदमाश हवाई फायरिंग करते हुए चंद कदम दूर स्थित आगामीर ड्योढ़ी चौकी के सामने से भाग निकले। घटना से आक्रोशित अनस के परिवारीजनों ने ट्रामा सेंटर में विरोध प्रदर्शन किया।

बवाल की सूचना पर कानून मंत्री ब्रजेश पाठक, एसएसपी कलानिधि नैथानी समेत अन्य अफसर और छह थानों का पुलिस बल पहुंचा। कानून मंत्री और एसएसपी ने परिवारीजनों को ढाढस बंधाते हुए शांत कराया और जल्द ही आरोपितों की गिरफ्तारी का आश्वासन दिया। एसएसपी ने बताया कि दोनों पक्षों में बाइक ओवरटेक करने को लेकर विवाद हुआ था। आशंका पर पाटानाला निवासी रिजवान और एक अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उनकी तलाश में दबिश दी जा रही है।एसएसपी के मुताबिक जनतानगरी निवासी मासूक अली पांडेयगंज गल्ला मंडी में पल्लेदारी करते हैं। उनका बेटा अनस कैसरबाग स्थित एक मीट की दुकान में काम करता था। मंगलवार दोपहर वह पड़ोस में रहने वाले साथी शारिक के साथ बारावफात पर सजावट के लिए गुब्बारे लेने यहियागंज गया था। दोनों गुब्बारे लेकर बाइक से लौट रहे थे। इस बीच सुभाष मार्ग स्थित लक्ष्मी नारायण गर्ल्‍स इंटर कॉलेज के सामने ओवरटेक करने को लेकर बाइक सवार दो युवकों से नोकझोंक हुई। इस बात पर दोनों पक्षों में विवाद शुरू हो गया।अनस और उसका साथी आगे बढ़े तो बाइक सवार बदमाशों ने पीछा किया और जहाज वाली कोठी के सामने बाइक पर पीछे बैठे बदमाश ने पिस्टल निकाल कर अनस के दायीं ओर जबड़े और सिर में दो गोलियां मार दी। अनस के साथी शारिक ने बताया कि भरे बाजार गोलियां चलने से दहशत फैल गई। घटना के समय बाजार में सैकड़ों की संख्या में लोग थे। लोग दौड़े तो बदमाशों ने तीन राउंड हवाई फायरिंग की और पिस्टल लहराते हुए आगामीर ड्योढ़ी पुलिस चौकी के सामने से भाग निकले। कुछ ही देर में पुलिस आ गई। पुलिस राहगीरों की मदद से घायल से को ट्रामा लेकर पहुंची। जहां, इलाज के दौरान कुछ ही देर में अनस की मौत हो गई।घटना की जानकारी मिलते ही कानून मंत्री ब्रजेश पाठक परिवारीजनों से मिलने ट्रामा सेंटर पहुंचे। कानून मंत्री ने हमलावरों पर शीघ्र कार्रवाई करने के निर्देश दिए।

एक माह पहले अनस का रिजवान से झगड़ा हुआ था। जिसको लेकर दोनों पक्षों में तनातनी चल रही थी। यह जानकारी अनस के परिवारीजनों ने पुलिस को दी। परिवारीजनों की आशंका पर पुलिस ने रिजवान को हिरासत में ले लिया। एएसपी पश्चिम ने बताया कि अनस के पिता मासूक ने बताया करीब एक माह पहले उसका रिजवान से विवाद हुआ था। दोनों पक्षों में मारपीट हुई थी। इसके बाद पुलिस ने मोहल्ले वालों और कुछ अन्य लोगों के हस्तक्षेप पर दोनों पक्षों में समझौता करा दिया गया था। हालांकि रिजवान फिर भी रंजिश मान रहा था। उसने धमकी भी दी थी। वहीं सीसी कैमरे में दिखे हमलावरों की तलाश्‍ा के लिए दबिश दी जा रही है।

बारावफात के एक दिन पहले अनस की हत्या से क्षेत्र में तनाव फैल गया। ट्रामा सेंटर पर लोगों की भीड़ एकत्र होने लगी। हालात गंभीर होते देख एएसपी पश्चिम विकास चंद्र त्रिपाठी, एएसपी पूर्वी सर्वेश कुमार मिश्रा, क्षेत्राधिकारी चौक दुर्गा प्रसाद तिवारी, क्षेत्राधिकारी कैसरबाग अमित कुमार राय, क्षेत्राधिकारी अलीगंज दीपक कुमार सिंह व सआदतगंज, नाका, बाजारखाला, कैसरबाग, तालकटोरा, अमीनाबाद समेत कई अन्य थानों का पुलिस बल, आरएएफ और पीएसी ट्रामा सेंटर बुला ली गई। घटना से क्षेत्र में तनाव को देखते हुए भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया। पुलिस ने रात को ही शव का पोस्टमार्टम कराया गया।